ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों की बड़ी कामयाबी, एनकाउंटर में तीन आतंकी ढेर किए, एक सैनिक भी शहीद

सेना जिस वक्त आतंकियों के खिलाफ अभियान चलाया तब स्थानीय नागरिक सड़क पर उतर आए और विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया।

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम और पुलवामा जिले में मंगलवार (27 नवंबर, 2018) को सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। अलग-अलग स्थानों पर हुई मुठभेड़ में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) से जुड़े अंसार गजवत-उल-हिंद समूह के डिप्टी कमांडर समेत तीन आतंकवादी मारे गए। इस ऑपरेशन में एक सैनिक भी शहीद हुआ है। एक पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी। कुलगाम जिले के रेडवानी गांव में मारे गए दो आतंकवादियों के लश्कर-ए-तैयबा के होने की संभावना जताई गई है। दोनों की पहचान एजाज अहमद (कैमूह निवासी) और वारिस अहमद मलिक (अरवानी) के रूप में हुई है। वहीं पुलवामा जिले के त्राल में मारे गए आतंकी की पहचान शाकिल हासन डार (रथसूना निवासी) के रूप में हुई। वह जाकिर मूसा ग्रुप का हिस्सा था। मुठभेड़ में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) का एक उप-निरीक्षक और एक कॉन्स्टेबल भी घायल हो गया।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने कुलगाम जिले के रेडवानी इलाके में आधी रात को घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया। उन्होंने बताया कि इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद यह अभियान शुरू किया गया था। तलाशी के दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोली चला दी, जिसका सुरक्षा बलों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया और आतंकियों को ढेर कर दिया। सेना जिस वक्त आतंकियों के खिलाफ अभियान चलाया तब स्थानीय नागरिक सड़क पर उतर आए और विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया।

एक अधिकारी के मुताबिक मुठभेड़ शुरू होते ही आतंकवादियों को बच निकलने का मौका देने के लिए युवाओं ने सुरक्षा बलों पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। सुरक्षाबलों ने आंसू गैस के गोले छोड़े और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पेलैट्स दागीं, जिसकी चपेट में आने से पांच युवा घायल हो गए। एक अन्य मुठभेड़ पुलवामा जिले के त्राल इलाके के हाफू गांव में सुबह सात बजे के आसपास हुई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस मुठभेड़ में जाकिर मूसा के नेतृत्व वाले अंसार गजवत-उल-हिंद का डिप्टी चीफ शकीर हसन डार मारा गया।

जाकिर मूसा को इस्लामिक स्टेट से संबंधित बताया जाता है, हालांकि अधिकारियों का कहना है कि राज्य में इस वैश्विक आतंकवादी समूह की कोई बड़ी उपस्थिति नहीं है। अधिकारियों ने दोनों जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया है। कश्मीर घाटी और जम्मू क्षेत्र के बनिहाल शहर के बीच रेल सेवाएं भी बंद कर दी गईं हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App