ताज़ा खबर
 

J-K: आखिर खत्म हुआ तीन दिन चला एनकाउंटर, पर मारे गए आतंकियों की संख्या को लेकर पुलिस और आर्मी ‘कंफ्यूज’

आर्मी का दावा है कि दो नहीं तीन आतंकी मारे गए हैं।

Author December 10, 2016 9:51 AM
jammu and kashmir, kashmir unrest, j-k newsअनंतनाग में इस घर में ही आतंकी छिपे हुए थे। (Express Photo by Shuaib Masoodi)

जम्मू कश्मीर पुलिस का कहना है कि अनंतनाग में तीन दिनों तक चला एनकाउंटर शुक्रवार (9 दिसंबर) को खत्म हो गया और उसमें लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकी मारे गए। हालांकि, आर्मी का दावा है कि दो नहीं तीन आतंकी मारे गए हैं। यह एनकाउंटर आर्मी, जम्मू कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और सीआरपीएफ ने मिलकर किया था। यह एनकाउंटर अनंतनाग के बिजबेहरा शहर में चल रहा था। यह ऑपरेशन शुक्रवार को खत्म हो गया। हालांकि, ऑपरेशन में एक आम आदमी की भी मौत हो गई। उसके अलावा दर्जनों गांववालों भी जख्मी हो गए। दरअसल वे गांववाले गांव के चारों तरफ बनाए गए सुरक्षा घेरों को विरोध के रूप में तोड़ने पर जख्मी हुए। पुलिस के एक प्रवक्ता ने इंडियन एक्सप्रेस के बात करते हुए बताया कि ऑपरेशन बुधवार को शुरू हुआ था। उस वक्त पुलिस को वहां आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। जानकारी थी कि आतंकी मुस्ताक अहमद गनी नाम के शख्स के घर में छिपे हुए हैं। प्रवक्ता ने कहा, ‘गनी लश्कर के लिए काम कर रहा था। उसने आतंकियों को छिपाया हुआ था और उनकी हरसंभव मदद कर रहा था। हम लोगों ने घर की घेराबंदी कर ली थी। जैसे ही सुरक्षा बल के जवान अंदर गए आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जिसका हमने जवाब दिया।’

प्रवक्ता ने आगे बताया कि ऑपरेशन बुधवार को पुलिस और सीआरपीएफ के आते ही शुरू कर दिया गया था। प्रवक्ता ने बताया कि दो आतंकियों की बॉडी और तीन ऐके-47 राइफल मिली हैं। दोनों की जांच के लिए डीएनए सेंपल भी लिए गए हैं। सीआरपीएफ नोर्थ जोन के स्पेशल डायरेक्टर जनरल एस श्रीवास्तव ने कहा कि संदिग्ध आतंकियों की पहचान माजिद जरगर और रुहिल अमीन डार के रूप में हुई है। जिसमें से जरगर कुल 20 साल का था। उसके शव को कश्मीर के कुलगाम में दफन किया गया। इंडियन एक्सप्रेस को मिली जानकारी के मुताबिक, वह कई साल से लश्कर कमांडर बनकर काम कर रहा था। उधमपुर हमले में भी उसका नाम आया था। उसपर नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी ने कैश प्राइज भी रखा हुआ था।

वहीं डार कश्मीर के ही काजीगंज का रहने वाला है। वह अनंतनाग की लश्कर युनिट का प्रमुख था। उसपर भी कश्मीर में हुए कई आतंकी हमलों में शामिल होने का आरोप था।

गोली से जिस आम शख्स की मौत हुई उसका नाम आरिफ अहमद शाह है। वह एनकाउंटर में गुरुवार को मारा गया था। लोगों का आरोप है कि सुरक्षाबलों ने उसका कत्ल किया। वहीं पुलिस का कहना है कि फायर करने के बाद खाली गोली से शाह को चोट लगी जिससे उसकी मौत हो गई।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महबूबा ने हुर्रियत संबंधी टिप्पणी को लेकर फारूक की निंदा की
2 जम्मू कश्मीर: पत्रकार पर लगा सुरक्षा बलों की ‘फर्जी खबर’ छापने का आरोप, केस रजिस्टर, अखबार बैन
3 जम्मू कश्मीर: कुलगाम से भागने में सफल हुए आतंकी, एक आम नागरिक की मौत
ये पढ़ा क्या?
X