INDIA CONSTRUCT WORLD'S HIGHEST ROAD IN LADAKH - Jansatta
ताज़ा खबर
 

भारत ने लद्दाख में दुनिया की सबसे ऊंची सड़क बनाई

गर्मियों में तापमान शून्य से 15 - 20 डिग्री सेल्सियस कम रहता है जबकि र्सिदयों में यह शून्य से 40 डिग्री नीचे चला जाता है।

Author श्रीनगर | November 2, 2017 5:57 PM
लद्दाख में 11,516 फीट की ऊंचाई पर स्थित बर्फ से घिरे जोजिला पास से गुजरता एक निजी वाहन। (PTI/File Photo/13 May, 2015)

सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने जम्मू कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में मोटर वाहन चलने लायक दुनिया की सबसे ऊंची सड़क बनाई है। यह सड़क 19,300 फुट से अधिक की ऊंचाई पर स्थित ‘उमंिलगला टॉप’ से होकर गुजरती है।  बीआरओ की ‘हिमांक परियोजना’ के तहत यह कामयाबी हासिल की गई।  बीआरओ के प्रवक्ता ने बताया कि यह लेह से 230 किमी दूर हानले के पास स्थित है। चिसुमले और देमचक गांवों को जोड़ने वाली 86 किमी लंबी सड़क रणनीतिक महत्व की है। ये गांव पूर्वी क्षेत्र में भारत – चीन सीमा से महज कुछ ही दूरी पर स्थित हैं।
इस कठिन कार्य को करने को लेकर बीआरओ र्किमयों की सराहना करते हुए परियोजना के चीफ इंजीनियर ब्रिगेडियर डीएम पुरवीमठ ने कहा कि इतनी अधिक ऊंचाई पर सड़क बनाना चुनौतियों से भरा हुआ था।

उन्होंने कहा कि इस स्थान की जलवायु निर्माण गतिविधियों के लिए हमेशा ही प्रतिकूल रहती है। गर्मियों में तापमान शून्य से 15 – 20 डिग्री सेल्सियस कम रहता है जबकि र्सिदयों में यह शून्य से 40 डिग्री नीचे चला जाता है। इस ऊंचाई पर आॅक्सीजन की मात्रा सामान्य स्थानों से 50 फीसदी कम रहती है। उन्होंने कहा, ‘‘मशीनों और मानव शक्ति की क्षमता विषम जलवायु और कम आॅक्सीजन के चलते सामान्य स्थानों पर 50 फीसदी कम हो जाती है। साथ ही, मशीन आॅपरेटरों को आॅक्सीजन के लिए हर 10 मिनट पर नीचे आना होता है।  ब्रिगेडियर ने कहा कि इतनी ऊंचाई पर उपकरणों का रखरखाव एक अन्य बड़ी चुनौती है।  इस सेक्टर में सड़क निर्माण की देखरेख करने वाले कमांडर 753 बीआरटीएफ प्रदीप राज ने कहा कि बीआरओ र्किमयों को इस काम पर रखने से पहले काफी प्रशिक्षण दिया जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App