ताज़ा खबर
 

श्रीनगर एयरपोर्ट पर लैंड कर रहा वायुसेना का MiG-21 फिसला, रोकी गईं सभी फ्लाइट्स

हादसे में पायलट सुरक्षित बच गया है। हालांकि, रनवे को नुकसान पहुंचा है। श्रीनगर एयरपोर्ट पर सभी फ्लाइटों को रोक दिया गया है।

Author श्रीनगर | September 20, 2016 3:30 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (Photo – Indian Express)

एक मिग-21 लड़ाकू विमान में ‘तकनीकी गड़बड़ी’ होने की वजह से श्रीनगर हवाईअड्डे पर मंगलवार को आपात स्थिति में उतारा गया। घटना में पायलट समेत किसी को भी नुकसान नहीं पहुंचा है। एयरपोर्ट सूत्रों ने बताया, ‘पायलट द्वारा लड़ाकू विमान में तकनीकी गड़बड़ी पाए जाने के बाद इसे श्रीनगर हवाई अड्डे पर आपात स्थिति में उतारा गया।’ उन्होंने बताया कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि विमान में आग तो नहीं लगी है, घटनास्थल पर दमकल वाहनों को भेजा गया।

साथ ही उन्होंने बताया, ‘आपात स्थिति में उतारे जाने के कारण विमान के टायर बूरी तरह से जल गये थे लेकिन तुरंत कार्रवाई ने विमान को बचा लिया गया।’ इस बीच विमान को आपात स्थिति में उतारे जाने की वजह से श्रीनगर हवाई अड्डे पर अन्य नागरिक विमानों के उड़ान भरने और उतरने में थोड़ी देरी हुई। भारतीय वायु सेना के अधिकारियों ने घटना पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया जबकि जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि वह संबंधित अधिकारियों से सूचना इकट्ठा करने के बाद ही कुछ टिप्पणी करेंगे।

नई दिल्ली में भारतीय वायु सेना के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘विमान को आपात स्थिति में उतारा गया था और इसे सुरक्षित तरीके से बचा लिया गया है।’ प्रवक्ता ने बताया, ‘विमान को आपात स्थिाति में उतारे जाने के बाद मानक परिचालन लन प्रक्रिया के तहत विमान को रनवे पर बंद कर दिया जाता है और उसके बाद सामान्य उड़ान गतिविधि फिर से शुरू करने में थोड़ा समय लगता है।’

बता दें, 10 सितंबर को राजस्थान के बाड़मेर में भी भारतीय वायुसेना का मिग-21 विमान क्रैश हो गया था। इस हादसे में भी विमाने के क्रैश होने से पहले ही पायलट और को-पायलट सुरक्षित बाहर निकल गए थे। इस विमान ने उत्तरलाई एयरबेस से उड़ान भरी थी। क्रैश होने के बाद हादसे की वजह जानने के लिए जांच के आदेश दिए गए थे। वहीं इससे पहले राजस्थान के जोधपुर में भी भारतीय वायुसेना का MIG-27 विमान दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया था। फाइटर जेट में मौजूद दोनों पायलटों ने सही समय पर खुद को बाहर निकाल लिया था। जोधपुर के रिहायशी इलाकों के ऊपर से उड़ान भर रहा फाइटर जेट दो घरों से टकराकर क्रैश हो गया था।

श्रीनगर एयरपोर्ट से हर सप्ताह 560 फ्लाइट्स संचालित होती हैं। एयरपोर्ट शहर से 12 किलोमीटर दूर स्थित है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App