ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर में सीआरपीएफ जवानों से मारपीट का वीडियो है असली, दर्ज हुई एफआईआर

सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने आरोपी युवकों की पहचान कर ली है और जल्द ही उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

जम्मू-कश्मीर सरकार का कहना है कि ऐसी घटनाओं में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने गुरुवार को सीआरपीएफ की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की है। सीआरपीएफ ने एक वीडियो में जवानों के साथ बदतमीजी कर रहे युवकों के खिलाफ शिकायत की। वीडियो 9 अप्रैल की बताई जाती है, जिसमें उपचुनाव के बाद ईवीएम मशीन ले जा रहे सीआरपीएफ जवानों से जम्मू-कश्मीर के कुछ युवक बदतमीजी और धक्का-मुक्की करते दिख रहे थे। सीआरपीएफ इंस्पेक्टर जनरल रविदीप सिंह साही ने कहा कि वीडियो विश्वसनीय है और सेना इस मामले कानूनी रूप से कड़ी कार्रवाई करेगी। सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने वीडियो में दिख रहे और जवानों के साथ धक्का मुक्की कर रहे युवकों की पहचान कर ली है और जल्द ही उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सीआरपीएफ के कार्यवाहक महानिदेशक सुदीप लखटकिया ने कहा, “जम्मू-कश्मीर में हमारी शिकायत पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर ली है। कानून अपना काम करेगा।” जम्मू-कश्मीर सरकार का कहना है कि ऐसी घटनाओं में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले सीआरपीएफ के महानिरीक्षक रविदीप सिंह साही ने कहा था, “जांच के दौरान, हमें पता लगा कि यह वीडियो प्रामाणिक है। हमने घटना के स्थान तथा इसमें शामिल बल की कंपनी की पहचान कर ली है।” उन्होंने कहा कि यह घटना मध्य कश्मीर के बडगाम जिले के चडूरा विधानसभा क्षेत्र के क्रालपोरा इलाके में हुयी।

उन्होंने कहा, “हमने सभी तथ्य एकत्र कर लिए हैं और आधिकारिक रूप से चडूरा पुलिस स्टेशन को अवगत करा दिया गया है।” उन्होंने कहा, “हमारे जवानों के साथ ऐसा करने वालों से हम कानूनी तरीके से निपटेंगे। हम इसपर कार्रवाई करेंगे।” जम्मू में उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने कहा, “ऐसा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ऐसी घटनाएं बिल्कुल स्वीकार्य नहीं हैं। कार्रवाई की जाएगी।” चार दिवसीय जम्मू महोत्सव का उद्घाटन करने के बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। यह देखने वाली बात है कि जवानोंं ने कितना धैर्य दिखाया है। हमारे सुरक्षा बल अनुशासित हैं। जवानों ने सर्वोच्च दर्जे का धैर्य बनाए रखा है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App