ताज़ा खबर
 

कश्‍मीर: हंदवाड़ा में आतंकियों का ठिकाना मिला, एंटी एयरक्राफ्ट गन समेत भारी मात्रा में विस्‍फोटक बरामद

माना जा रहा है कि सेना ने अपने इंटेलिजेंस इनपुट के आधार पर इस ऑपरेशन को अंजाम दिया है।

Handwara, Army busted terrorist hideout, huge cache of explosives, arms and ammunition, anti aircraft gun seized, Indian army, hindi news, jansatta, latest hindi newsआतंकियों से सेना ने एंटी एयरक्राफ्ट गन भी बरामद किया है। (फोटो-ANI)

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ अभियान में सेना और पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। सेना ने एक ऑपरेशन नें हंदवाड़ा में आतंकियों के एक ठिकाने को ध्वस्त कर दिया है। सेना को यहां से भारी मात्रा, हथियार, गोले और विस्फोटक मिले हैं। चिंताजनक ये है कि आतंकियों के इस अड्डे से सेना ने एंटी एयरक्राफ्ट को भी बरामद किया है। इस गन का इस्तेमाल विमानों को गिराने के लिए किया जाता है।इस ऑपरेशन को श्रीनगर से 95 किलोमीटर दूर सेना के एलीट यूनिट 47 राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों ने अंजाम दिया। सेना ने हंदवाड़ा के चाक कीगम के जंगलों में ऑपरेशन में चलाया। सेना जब आतंकियों के इस अड्डे पर पहुंची तो यहां हथियारों का जखीरा देखकर चौक गई। सेना को यहां एक एंटी एयरक्राफ्ट गन, एक आरपीजी, एक लाइट मशीन गन, एक एके 47 इसके तीन मैगजीन, 2 पिस्तौल और 4 मैगजीन, एक आईडी, और बड़ा चाकू मिला। हालांकि इस ऑपरेशन में अबतक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। माना जा रहा है कि सेना ने अपने इंटेलिजेंस इनपुट के आधार पर इस ऑपरेशन को अंजाम दिया है।


इधर सीमा पर पाकिस्तान की नापाक हरकतें जारी हैं। पाकिस्तान ने संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए आज (24 सिंतबर) जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में स्थित बालकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास भारत की अग्रिम चौकियों को निशाना बनाया जिसमें आज दो सैनिक घायल हो गये। सेना ने बताया कि सीमा की निगरानी कर रहे सैनिकों ने तुरंत जवाबी कार्रवाई की और दोनों पक्षों के बीच करीब 30 मिनट तक गोलीबारी हुई। रक्षा प्रवक्ता ने पीटीआई-भाषा को बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने तड़के करीब तीन बजे बालकोट सेक्टर के भीमबेर गली क्षेत्र में एलओसी से सटी अग्रिम चौकियों को निशाना बनाकर गोलीबारी एवं गोलाबारी की, जिसमें दो जवान घायल हो गये। पाकिस्तान की ओर से की जा रही गोलीबारी एवं गोलाबारी के चलते सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले सैकड़ों लोगों को अपने घर छोड़ने को मजबूर होना पड़ा है और उन्होंने सरकार द्वारा स्थापित शिविरों में शरण ली है।पाकिस्तान द्वारा संघर्षविराम उल्लंघन की घटनाओं में इस साल तेजी से इजाफा हुआ है।भारतीय सेना के आंकड़ों के अनुसार एक अगस्त तक पाकिस्तानी सेना द्वारा इस तरह के संघर्षविराम उल्लंघन की 285 घटनाएं हुईं, जबकि वर्ष 2016 में पूरे साल यह संख्या 228 रही थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 BREAKING: कश्‍मीर के बनिहाल में SSB कैंप पर आतंकी हमला, एक जवान की मौत
2 वीडियो: आतंकवादियों ने कश्मीरी दुकानदार को मुखबिर बताकर ले ली जान, हफ्तों बाद जारी किया वीडियो और फोटो
3 कश्मीर: आपस में ही भिड़े आतंकी, हिज्ब-उल-मुजाहिद्दीन का आरोप- सरकार से पैसे खाकर हमारे आदमी मरवा रहा अल कायदा
यह पढ़ा क्या?
X