पीडीपी से कोई मतभेद नहीं, अच्छा काम कर रही है जम्मू कश्मीर सरकार: भाजपा

भाजपा की जम्मू कश्मीर इकाई के अध्यक्ष सत शर्मा ने कहा है कि पीडीपी-भाजपा की गठबंधन वाली सरकार ‘‘अच्छा काम’’ कर रही है।

भाजपा की जम्मू कश्मीर इकाई के अध्यक्ष सत शर्मा

भाजपा की जम्मू कश्मीर इकाई के अध्यक्ष सत शर्मा ने कहा है कि पीडीपी-भाजपा की गठबंधन वाली सरकार ‘‘अच्छा काम’’ कर रही है और राज्य में गठबंधन सहयोगियों के बीच कोई मतभेद नहीं है। राज्य इकाई के अध्यक्ष का यह बयान जम्मू कश्मीर के बिगड़ते हालात के बीच मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात करने और दोनों पार्टियों के बीच संबंध तल्ख होने के बाद आया है।
उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक गठबंधन का सवाल है, तो सहयोगियों के बीच कोई मतभेद नहीं है। पीडीपी भाजपा सरकार अच्छा काम कर रही है। प्रत्येक व्यक्ति अपना काम कर रहा है।
शर्मा ने कल यहां पत्रकारों से कहा,‘‘मुख्यमंत्री रोजना के कामों में मसरूफ हैं….यही हाल मंत्रियों और उपमुख्यमंत्री का है। कोई तनाव नहीं है।
भाजपा विधायक रवीन्द्र रैना ने उम्मीद जताई कि मोदी और महबूबा के बीच बैठक कश्मीर में कानून व्यवस्था के बेहतर हालात सुनिश्चत करने तथा शांति बहाल करने के साथ विकास कार्याे को गति देने की दिशा में सकारात्मक परिणाम देंगी।

बता दें कि जम्मू- कश्मीर में कानून-व्यवस्था की स्थिति को लेकर राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सोमवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। राज्य में बढ़ती हिंसा की आंच बीजेपी-पीडीपी गठबंधन तक पहुंच गई है, जिसके बाद राज्य में राज्यपाल शासन लगाने की बातें भी सामने आ रही थीं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महबूबा-मोदी के बीच चुनाव के दौरान हिंसा और कम मतदान के अलावा गठबंधन, सिंधु जल समझौते के कारण राज्य को नुकसान पर भी बातचीत हुई। एचटी की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में हालत पर काबू पाने के लिए एक माहौल पैदा करना होगा। पत्थरबाजों को गोलियों से जवाब देने से कोई हल नहीं निकलेगा।

वहीं बीजेपी और पीडीपी के मदभेदों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इसे बातचीत से ही सुलझाया जाएगा। उन्होंने कहा कि घाटी में राज्यपाल शासन का फैसला केंद्र सरकार ही लेगी। इसके अलावा कश्मीर में कानून-व्यवस्था को लेकर महबूबा ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की। मोदी और महबूबा की मुलाकात एेसे वक्त पर हो रही है, जब हाल ही में संपन्न हुए उपचुनावों में काफी हिंसा देखी गई थी। यहां वोटिंग पर्सेंटेज भी कम रहा था। श्रीनगर सीट पर नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला ने जीत हासिल की थी। यह सीट पीडीपी ने 2014 के लोकसभा चुनावों में जीती थी।

बैठक के बाद मुफ्ती ने बताया, प्रधानमंत्री ने पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया है। उन्होंने बार-बार कहा कि वह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के पदचिन्हों पर चलेंगे, जिनकी नीतियां टकराव की नहीं बल्कि सामंजस्य की हैं। इससे पहले, पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को सुझाव दिया था कि दूसरे राज्यों को जम्मू-कश्मीर में कार्यक्रम आयोजित करने चाहिए। साथ ही दूसरे राज्यों को घाटी के युवाओं को अपने यहां शिक्षा के लिए आने का न्योता देना चाहिए। नीति आयोग की ओर से जारी बयान के मुताबिक, पीएम नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर की सीएम के उस सुझाव पर हामी भरी, जिसमें सभी राज्यों से जम्मू-कश्मीर के छात्रों में दिलचस्पी लेने की बात कही गई थी। हाल ही में यूपी और राजस्थान मेंकश्मीरी स्टूडेंट्स के साथ मारपीट करने के मामले सामने आए थे। माना जा रहा था कि कश्मीर में सुरक्षाबलों पर होने वाले पथराव की प्रतिक्रिया में इन घटनाओं को अंजाम दिया गया।

पढें जम्मू-कश्मीर समाचार (Jammukashmir News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट