ताज़ा खबर
 

पत्‍थरबाजों से बचने के लिए कश्‍मीरी को जीप से बांधने वाले मेजर गोगोई को आर्मी चीफ ने किया सम्‍मानित

गोगोई को सेनाध्‍यक्ष बिपिन रावत ने काउंटर इनसर्जेंसी ऑपरेशंस के लिए लगातार प्रयास करने हेतु सम्‍मान दिया है।

सेना की जीप पर बंधे इस युवक की तस्वीर वायरल हुई थी।

जम्‍मू-कश्‍मीर में चुनावी ड्यूटी के दौरान एक कश्‍मीरी को सेना की जीप के आगे ‘ढाल’ बनाकर बांधने वाले सेना के अधिकारी मेजर नितिन गोगोई को सम्‍मानित किया गया है। गोगोई को सेनाध्‍यक्ष बिपिन रावत ने काउंटर इनसर्जेंसी ऑपरेशंस के लिए लगातार प्रयास करने हेतु सम्‍मान दिया है। श्रीनगर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के बीरवाह इलाके में उपचुनाव के दौरान 9 अप्रैल को बडगाम में पत्थरबाजों से बचने के लिए 53 राष्ट्रीय राइफल्स ने अपनी जीप के आगे फारूक अहमद डार नाम के शख्स को मानव ढाल के तौर पर बांध दिया था। इसका वीडियो वायरल होने के दो दिन बाद बीरवाह पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया था। सेना की ओर से भी पूरे मामले की कोर्ट ऑफ इंक्‍वायरी के आदेश दिए गए थे। हालांकि उस वक्‍त भी अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने अधिकारी की इस कार्रवाई को सही ठहराया था।

मेजर की अगुआई वाली 5 गाड़ियों में जवान, 12 चुनाव अधिकारी, 9 आईटीबीपी के जवान और दो पुलिसवाले थे। गोगोई एसीसी बैकग्राउंड से है। आर्मी कैडेट कॉलेज विंग थलसेना, नौसेना और वायु सेना के जवानों को भारतीय सेना में अधिकारियों के रूप प्रशिक्षित करता है। यह अफसर कई रैंक पर रह चुका है और उसे सेना में एक दशक का अनुभव है।

संबंधित वीडियो देखें:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App