ताज़ा खबर
 

वीडियो: सड़क हादसे के बाद सेना के जवानों की मदद करने के लिए आगे आए कश्मीरी

सेना का ट्रक चाहडूरा इलाके से गुजर रहा था कि अचानक ड्राइवर का उससे नियंत्रण छूट गया और हादसा हो गया।

यह मामला बडगाम जिले का है जहां पर सेना का ट्रक दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। (Source: Adnan Adil/Facebook)

कश्मीर घाटी में अक्सर ऐसी खबरें देखने को मिलती हैं जहां पर स्थानीय लोग सेना पर पत्थरबाजी करते हुए दिखाई देते हैं। इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें स्थानीय लोग सेना के जवानों को घेरे हुए दिखाई दे रहे हैं लेकिन वे उनपर हमला नहीं कर रहे बल्कि जवानों की मदद कर रहे हैं। यह मामला बडगाम जिले का है जहां पर सेना का ट्रक दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने आगे आकर सेना की मदद की। यह हादसा रविवार को हुआ था। प्राप्त जानकारी के अनुसार सेना का ट्रक चाहडूरा इलाके से गुजर रहा था कि अचानक ड्राइवर का उससे नियंत्रण छूट गया और हादसा हो गया। इस हादसे में जवानों को चोंटे आई हैं। हादसे के तुरंत बाद स्थानीय लोग घटनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने सभी जवानों को ट्रक से बाहर निकाला और उनके लिए डॉक्टर का इंतजाम किया।

ऐसी ही एक घटना पिछले साल श्रीनगर के बाहरी इलाके लासजन में देखने को मिली थी, जहां पर सेना की एक गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार  अचानक सेना की गाड़ी का बैलेंस बिगड़ गया था और वह सीधा जाकर पेड़ से टकरा गई थी। इस हादसे के तुरंत बाद स्थानीय लोग सेना की मदद के लिए घटनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने घायल जवानों को क्षतिग्रस्त गाड़ी से बाहर निकाला। आर्मी प्रवक्ता के अनुसार इस हादसे में किसी जवान को ज्यादा गंभीर चोट नहीं आई थी।


आर्मी नॉर्थन कमांड ने स्थानीय लोगों द्वारा सभी जवानों की मदद करने की पुष्टि  ट्विटर के जरिए की थी।  वहीं कश्मीरी युवाओं द्वारा आर्मी के लोगों की मदद करने के लिए आर्मी कमांड द्वारा उनका शुक्रियाअदा भी किया गया और इसे एक मानवतावादी एक्ट बताया गया था। वहीं जहां एक तरफ स्थानीय लोग आर्मी की मदद कर रहे थे तो जो कुछ लोग इस घटना का एक वीडियो भी शूट कर रहे थे। इस वीडियो में एक लड़के को सेना के जवानों से यह कहते हुए दिखाया गया है कि चलो अब कश्मीरियों को गोली मारो, ये अभी भी कश्मीरियों के साथ मारपीट करेंगे।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App