ताज़ा खबर
 

कश्‍मीर: ग्रेनेड हमले में 4 जवान घायल, स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी

कश्मीर घाटी में 90 के दशक में अलगाववादी हिंसा शुरू होने के बाद से 15 अगस्त और 26 जनवरी के आस-पास आम तौर पर तनाव जैसे हालात हो जाते हैं।
Author August 14, 2017 20:53 pm
खुफिया सूचना मिलने के बाद जम्मू एवं श्रीनगर में सुरक्षा बंदोबस्त कड़े कर दिए गए हैं। (PTI)

जम्मू एवं कश्मीर में स्वतंत्रता दिवस समारोह को देखते हुए सोमवार को सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। इस बीच बडगाम जिले में ग्रैनेड हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के तीन जवान और एक पुलिसकर्मी घायल हो गया। आतंकवादी संगठन लश्कर ए तैयबा ने हमले की जिम्मेदारी ली है। राज्य में 15 अगस्त को होने वाले आधिकारिक स्वतंत्रता दिवस समारोहों को निशाना बनाए जाने की आतंकवादियों की योजना के संबंध में खुफिया सूचना मिलने के बाद जम्मू एवं श्रीनगर में सुरक्षा बंदोबस्त कड़े कर दिए गए हैं।

जम्मू एवं श्रीनगर में दर्जनों जगहों पर अस्थायी सुरक्षा चौकियां स्थापित की गई हैं और दोनों शहरों में प्रवेश करने वाले हर वाहन की सघन जांच की जा रही है। जम्मू में मौलाना आजाद स्टेडियम और श्रीनगर में बख्शी स्टेडियम के आस-पास की सभी बहुमंजिला इमारतों पर शार्पशूटर तैनात किए गए हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा निगरानी के लिए ड्रोन और सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं।

श्रीनगर के बख्शी स्टेडियम में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराएंगी और बख्शी स्टेडियम को जाने वाले सभी मार्ग वाहनों और पदयात्रियों के लिए बंद कर दिए गए हैं। बख्शी स्टेडियम में प्रवेश के लिए सख्त इलेक्ट्रॉनिक जांच उपकरण और मानव निगरानी व्यवस्था लगाई गई है। वहीं जम्मू के मौलाना आजाद स्टेडियम में भी सुरक्षा बलों ने कड़े सुरक्षा बंदोबस्त किए हैं।

कश्मीर घाटी में 90 के दशक में अलगाववादी हिंसा शुरू होने के बाद से 15 अगस्त और 26 जनवरी के आस-पास आम तौर पर तनाव जैसे हालात हो जाते हैं। अलगाववादी स्वतंत्रता दिवस पर विरोध स्वरूप बंद और परेड का बहिष्कार करने का आह्वान करते रहे हैं, वहीं आतंकवादी समारोह बाधित करने की कोशिश करते रहे हैं।

सोमवार को श्रीनगर में आम दिनों की अपेक्षा सड़कों पर परिहवन और लोगों की भीड़ कम रही, क्योंकि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए लोग जल्द से जल्द घरों के अंदर चले गए। अधिकारियों ने कानून व्यवस्था बनाए रखने का हवाला देते हुए श्रीनगर के कुछ हिस्सों में निषेधाज्ञा लगा दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.