ताज़ा खबर
 

कश्‍मीर: 23 साल के सैनिक की शोपियां में लाश मिली, लापता था छुट्टी पर आया इरफान

इरफान करीब 10 दिन पहले छुट्टी पर घर आया था।
डार का शव शनिवार को शोपियां में मिला। (Photo: ANI)

जम्‍मू-कश्‍मीर के शोपियां जिले में शनिवार (25 नवंबर) सुबह टेरिटोरियल आर्मी के एक सैनिक की गोलियों से छलनी लाश मिली। मारे गए सैनिक की पहचान इसी जिले के सेनसेन गांव में रहने वाले इरफान अहमद डार के रूप में हुई है। वह एक दिन से लापता था। पुलिस ने आशंका जताई कि उसे आतंकियों ने अगवा किया। उसकी उत्‍तरी कश्‍मीर के गुरेज सेक्‍टर में तैनाती थी। इरफान करीब 10 दिन पहले छुट्टी पर घर आया था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इरफान की लाश स्‍थानीय नागरिकों ने देखी, जिसके बाद उन्‍होंने पुलिस को खबर की। एसएसपी शोपियां अम्‍बारकर श्रीराम ने कहा, ”उसे आतंकियों द्वारा अगवा किये जाने का शक था। उसकी कार भी घटनास्‍थल के पास मिली।” पुलिस ने कहा, “ऐसा प्रतीत हो रहा कि हत्या अतांकियों द्वारा की गई है, लेकिन हम जवान की हत्या के पीछे के असली मकसद को तलाश रहे हैं।”

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया, “23 वर्षीय सिपाही इरफान अहमद डार शोपियां जिले के सेनजेन गांव का निवासी था। वह सेना में बतौर सैनिक कार्यरत था। वह बांदीपोरा जिले में प्रादेशिक सेना इकाई में तैनात था।” उन्होंने कहा, “वह 26 नवंबर तक अवकाश पर था। ऐसा लग रहा है कि अवकाश के दौरान आतंकवादियों ने उसे अगवा कर उसकी हत्या कर दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।” डार के शव पर गोलियों के निशान थे। पुलिस ने शोपियां जिले के कीगम गांव से शनिवार सुबह शव बरामद किया।

इस बीच जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मीर की हत्या की निंदा की है। महबूबा ने ट्विटर पर लिखा, ” शोपियां में टेरिटॉरियल आर्मी के एक बहादुर जवान की भयावह हत्या की कड़ी निंदा करती हूं। इस तरह की नृशंस गतिविधि घाटी में शांति स्थापित करने के हमारे संकल्प को कमजोर नहीं करेगा।” जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी इस जवान की हत्या की निंदा की। उन्होंने ट्वीट किया, ”युवा इरफान डार की हत्या काफी दुखद और निन्दनीय है। परिवार के प्रति मेरी दिली संवेदना।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    mp
    Nov 25, 2017 at 4:13 pm
    देस अपने कश्मीरी जवानो को सुरक्षित नहीं केर सका बड़ी विडम्बना है जिस ने भी हत्या करवाई है सख्त करवाई करे सरकार कश्मीरी जवानो की सुरक्षा पक्की करे कई जवान जान गवा बैठे है
    (0)(0)
    Reply