ताज़ा खबर
 

कश्‍मीर: जिस दिन था बेटे का पहला जन्‍मदिन, उसी दिन हुआ शहीद जाधव का अंतिम संस्‍कार

जाधव के घर में आज बहादुर सैनिक को अंतिम विदाई देने के लिये बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हुये थे।

Author June 24, 2017 18:19 pm
संघर्ष विराम उल्‍लंघन में शहीद जवान को आखिरी सलामी देते साथी। (Source: PTI)

नाईक संदीप जाधव के परिवार के लिए आज का दिन खुशियों का होता। आज उनके पुत्र की पहली सालगिरह थी और आज ही शहीद जाधव का आज अंतिम संस्कार किया गया। पाकिस्तानी विशेष बल के हमलों में वह गुरूवार को शहीद हुए जाधव की जब मध्य महाराष्ट्र के सिल्लोद तालुका में जब पूर्ण सैनिक सम्मान के साथ अंत्येष्टि की जा रही थी तो उनके एक साल के मासूम बेटे शिवम की आंखें भी नम थीं। उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले पाकिस्तानी स्पेशल फोर्स के दल ने पुंछ सेक्टर में नियंत्रण सीमा रेखा से 600 मीटर अंदर घुस कर हमला करके 15 महाराष्ट्र लाइट इनफैंन्ट्री के जाधव की हत्या कर दी थी। इस हमले में कोल्हापुर के 24 वर्षीय श्रवन माने भी शहीद हुए थे। जाधव की अंत्येष्टि में हजारों लोग शामिल हुये और उन्हें भीगी आंखों से उन्हे विदाई दी।

जाधव के घर में आज बहादुर सैनिक को अंतिम विदाई देने के लिये बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हुये थे। शवयात्रा में लोगों ने ‘‘संदीप जाधव अमर रहे’’ और ‘‘जब तक सूरज चांद रहेगा, संदीप तेरा नाम रहेगा’’ के नारे लगाये। उनकी मौत की खबर आते ही सिल्लोद में उदासी छा गयी थी। जाधव ने अपने परिवार से वादा किया था कि शिवम के पहली सालगिरह पर वह घर पर रहेंगे और उत्सव मनाएंगे। जाधव के अंतिम संस्कार के मौके पर वहां सिल्लोद से कांग्रेस के विधायक अब्दुल सत्तार, महाराष्ट्र विधानसभा के स्पीकर हरिभाऊ बागडे, जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App