ताज़ा खबर
 

कश्मीरी ने ही ली लेफ्टिनेंट उमर फय्याज की जान, हिजबुल आतंकी अब्बास था गैंग का लीडर

पुलिस ने दक्षिणी कश्मीर में रहने वाले अब्बास नाम के शख्स की इस हत्या के मास्टमाइंड के रूप में पहचान की है।

Lieutenant Ummer Fayaz, Ummer Fayaz, Ummer Fayaz Kashmir, Martyr Ummer Fayaz, Indian Army, School renamed, School renamed ummer Fayaz, Kashmiri Army officer, Rajputana Rifles, NDA, National Defence Academy, JNU, Navodaya Vidyalaya, Kashmir Newsभारतीय सेना के लेफ्टिनेंट उमर फय्याज और उनकी मां। (PTI Photos)

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने उस आतंकी संगठन की पहचान कर ली है जिसने सेना के अफसर लेफ्टिनेंट उमर फय्याज की हत्या की है। सीएनएन न्यूज के मुताबिक जम्मू-कश्मीर के पुलिस सूत्रों ने बताया है कि उमर की हत्या में इन्सास राइफल का इस्तेमाल किया गया है जिसे आतंकियों ने पिछले महीने पुलवामा से लूटा था। सूत्रों के मुताबिक लेफ्टिनेंट उमर फय्याज की हत्या हिजबुल के आतंकियों ने की है। पुलिस ने इस मामले में छानबीन तेज कर दी है। पुलिस ने इन्सास राइफल के दो खोखे भी बरामद किए हैं। हालांकि, अभी तक उमर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई है, जिससे यह मिलान किया जा सके कि उसकी हत्या में इस्तेमाल हथियार कौन सा था।

फिलहाल मामले में पुलिस ने दक्षिणी कश्मीर में रहने वाले अब्बास नाम के शख्स की इस हत्या के मास्टमाइंड के रूप में पहचान की है। उसके साथ और भी कई आतंकी मौजूद थे जब उमर फय्याज की हत्या की गई थी।

गौरतलब है कि जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां जिले में आतंकवादियों के हमले में युवा कश्मीरी सैन्य अधिकारी शहीद हो गए। बुधवार सुबह उनका गोलियों से छलनी शव मिला था। उमर अपने मामा मोहम्मद मकबूल की बेटी की शादी में शामिल होने के लिए आए थे।

लेफ्टिनेंट उमर फय्याज की पढ़ाई अनंतनाग के एक स्कूल में हुई थी। उन्होंने साल 2012 में एनडीए ज्वाइन की थी और कमीशंड ऑफिसर की परेड पास कर दिसंबर 2016 में इंडियन आर्मी में शामिल हुए थे। वो दो राजपुताना राइफल्स यूनिट की कमान संभाल रहे थे। ऐसा करने वाले वो सबसे कम उम्र के अधिकारी थे। इसी यूनिट ने करगिल की लड़ाई में तोलोलिंग पर कब्जा कर लड़ाई को निर्णायक दौर में पहुंचाया था। यूनिट ज्वाइन करने के बाद वो पहली छुट्टी पर पारिवारिक समारोह में शामिल होने आए थे, जहां से आतंकवादियों ने उन्हें अगवा कर लिया था। मंगलवार की रात उमर को आतंकियों ने अगवा किया और अगली सुबह उनका गोलियों से छलनी शव मिला था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जम्‍मू-कश्‍मीर में विस्फोटक हालात: पाकिस्तानी से ज्‍यादा कश्‍मीरी आतंकी
2 आतंकियों की धमकियों को नजरअंदाज कर 3000 कश्मीरी युवाओं ने लिया पुलिस भर्ती परीक्षा में भाग
3 महबूबा ने टीवी पर फोड़ा कश्मीर पर फर्जी प्रोपगेंडा चलाने का ठीकरा
ये पढ़ा क्या?
X