ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में सुरक्षा बलों की फायरिंग में एक नागरिक की मौत, 6 घायल

पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में एक सैनिक के शहीद होने की खबर है। शहीद होने वाले सैनिक का नाम नायक भक्तावर सिंह है, जो पंजाब के रहने वाले थे।

अनंतनाग में सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी (PTI File Photo)

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षा बलों की फायरिंग में एक नागरिक की मौत हो गई है जबकि इस गोलीबारी में 6 अन्य लोग घायल हो गए हैं। इसके अलावा पाकिस्तान की ओर से हुए संघर्ष विराम और फायरिंग में एक सैनिक के शहीद होने की खबर है। शहीद होने वाले सैनिक का नाम नायक भक्तावर सिंह है, जो पंजाब के रहने वाले थे। भारतीय सेना के उत्तरी कमांड ने प्रेस रिलीज जारी कर इसकी सूचना दी है। सेना के मुताबिक 34 साल के भक्तावर सिंह की पंजाब के होशियारपुर जिले के मुकरियां तहसील के हाजीपुर गांव के निवासी थे। उनका शव शनिवार को राजौरी में रखा जाएगा उसके बाद उनके पैतृक गांव ले जाया जाएगा, जहां पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि की जाएगी।

सेना ने अपने बयान में कहा है कि पाकिस्तानी सेना ने शुक्रवार की सुबह करीब सवा पांच बजे भारतीय जवानों को उकसाने के इरादे से भारतीय सेना की चौकियों पर फायरिंग शुरू कर दी। इसके तुरंत बाद भारतीय जवानों ने उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया। इस दौरान नायक भक्तावर सिंह दुशिमनों की गोली के शिकार हो हए। उन्हें घायल अवस्था में तुरंत मिलिट्री अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उनकी मौत हो गई।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Gold
    ₹ 25900 MRP ₹ 29500 -12%
    ₹3750 Cashback
  • Honor 8 32GB Pearl White
    ₹ 14210 MRP ₹ 30000 -53%
    ₹1500 Cashback

जानकारी के मुताबिक, जम्मू एवं कश्मीर के कुलगाम में भी शुक्रवार को आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच हो रही गोलीबारी में एक नागरिक की मौत हो गई है। मुठभेड़ स्थल के पास इस व्यक्ति को गोली लग गई थी। पुलिस सूत्रों ने कहा कि कुलगाम के अरवानी गांव में मोहम्मद अशरफ को गोली लगी थी। सूत्रों के मुताबिक “घायल को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने गंभीर रूप से जख्मी होने के कारण दम तोड़ दिया।”

यह फिलहाल स्पष्ट नहीं हो सका है कि मोहम्मद अशरफ को गोली गांव में हो रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान लगी या गोलीबारी के बीच वह किसी गोली का निशाना बन गया। इससे पहले शुक्रवार को सुरक्षा बलों द्वारा आतंकवादियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान को बाधित करने के लिए गांव में विरोध प्रदर्शन भी हुआ। वहीं, जानकारी मिली है कि सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुए एनकाउंटर में लश्कर के टॉप कमांडर जुनैद मट्टू को मार गिराया गया है। जुनैद मट्टू आठ घंटे तक बिल्डिंग में छिपा रहा था। जुनैद मट्टू पिछले साल पुलिस वाहन पर दिनदहाड़े किए गए हमले में शामिल था, जिसमें तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। उसपर 10 लाख रुपए का ईनाम था।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App