ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: खेत में मिले बम से खेलने लगा बच्चा, अचानक हो गया धमाका

धमाके में बच्चे के दोनों हाथ जल गए और उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जम्मू-कश्मीर में खेत में खेलने के दौरान एक बच्चा बम धमाके में घायल हो गया। (फोटो सोर्स – एएनआई)

जम्मू-कश्मीर के पुंछ में नियंत्रण रेखा के पास एक लड़का उस वक्त बम धमाके की चपेट में आ गया जब वह खेत में खेल रहा था। धमाके में बच्चे के दोनों हाथ जल गए और उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शाहपुर का रहने वाला 13 वर्षीय मोहम्मद इकबाल खेत में खेल रहा था। उसे पाकिस्तान की तरफ से कुछ दिनों पहले फेंका गया बम मिला। इकबाल बम के साथ खेलने लगा, तभी उसमें धमाका हो गया। धमाका शनिवार (13 जनवरी) को सुबह करीब पौने बारह बजे हुआ। एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है कि इकबाल को खेत में खेलते हुए बम मिला और फिर धमाका हो गया। पिछली 3 जनवरी को पाकिस्तान की तरफ से सांबा सेक्टर में युद्ध विराम का उल्लंघन किया था। पाकिस्तान की तरफ से की गई गोलाबारी में एक बीएसएफ जवान शहीद हो गया था। यह बम भी उसी दौरान का होने की संभावना जताई जा रही है।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Nokia 1 8GB Blue
    ₹ 4482 MRP ₹ 5999 -25%
    ₹538 Cashback

शनिवार को भी पाकिस्तान की तरफ से की गई गोलीबारी में राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर एक भारतीय जवान शहीद हो गया। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने सुंदरबनी सेक्टर में सीमा पार से भारतीय चौकियों पर बिना किसी उकसावे के गोलीबारी शुरू कर दी। इस पर नियंत्रण रेखा की रक्षा कर रहे भारतीय सैनिकों ने भी जोरदार ढंग से जवाब दिया।

गोलीबारी में 22 वर्षीय लांस नाइक योगेश मुरलीधर भडाने गंभीर रूप से घायल हो गए और बाद में उनकी मौत हो गई। भडाने के परिवार में उनकी पत्नी हैं। वह महाराष्ट्र के धुले जिले के खलाने गांव के रहने वाले थे।

पिछले साल तक एक दशक के दौरान पाकिस्तान की तरफ से संघर्ष विराम उल्लंघन की सबसे ज्यादा घटनाएं हुईं। इनमें 35 लोगों की मौत भी हुई। मरने वालों में 19 सैन्यकर्मी और चार बीएसएफकर्मी शामिल थे। भारत, पाकिस्तान के साथ 3323 किलोमीटर लंबी सीमा साझा करता है। उसमें से 221 किलोमीटर अंतरराष्ट्रीय सीमा और 740 किलोमीटर नियंत्रण रेखा जम्मू कश्मीर में पड़ती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App