ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: IS की लोगों को भड़काने की कोशिश, कहा- लड़ाई गौ-मूत्र पीने वालों से, काफिरों को देखते ही मारो

आईएसआईएस की बुरी नजर अब भारत के जम्मू-कश्मीर पर है।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

आईएसआईएस की बुरी नजर अब भारत के जम्मू-कश्मीर पर है। यह दावा इंडिया टुडे ग्रुप ने अपनी एक एक्सलूसिव रिपोर्ट में किया है। खबर के मुताबिक आईएसआईएस जम्मू-कश्मीर में इस्लामिक खिलाफत लाना चाहता है और इसके लिए वह मुलमानों को भड़काने की पूरी प्लानिंग कर रहा है। खबर के मुताबिक खूंखार आतंकी संगठन ने इस काम को अंजाम देने के लिए एक ब्लूप्रिंट भी तैयार किया है। आंतकी संगठन ने हिमालय क्षेत्र में बड़े पैमाने पर नरसंहार करने का आह्वान किया है। इंडिया टुडे के मुताबिक उसे इस्लामिक स्टेट का यह ब्लूप्रिंट हासिल हुआ है जिसमें राज्य में खिलाफत समेत कई आपत्तिजनक बातें कहीं गई हैं।

खबर के मुताबिक आईएस ने अपने आर्टिकल में सेना के खिलाफ मुस्लिमों को गुरिल्ला युद्ध के लिए भड़काने की बात कही है। आर्टिकल में लिखा गया है “तुम किसी मजबूत सेना से नहीं बल्कि बुतपरस्तों से लड़ रहे हो जो गाय का पिशाब पीते हैं। यह लोग सबसे कमजोर हैं। तुम्हें इन पर हमला करना चाहिए। तुम्हें यह जहां दिखें उन्हें वहीं मार देना चाहिए, चाहे इसके लिए तुम्हें आसमान तक ही क्यों न उनका पीछा करना पड़े।” वहीं आतंकी संगठन सिर्फ इतने में ही नहीं रुकता। आईएस ने अपने ब्लूप्रिंट में घाटी से उदार इस्लाम को भी जड़ से खत्म करने की बात कही है जिसमें में वह सूफी इस्लाम को मिटाने को कहता है। खबर के मुताबिक लेख में आईएस ने कहा है- “उन बुरे मौलवियों को खत्म कर दो जो अफवाहें फैलातें हैं।” आईएस आठवीं सदी के इस्लाम और शरिया कानून को थोपने की बात करता है।

इसके अलावा आईएस कश्मीर में फैले तनाव की आड़ लेकर भी लोगों को भड़का रहा है। वह कहता है- “काफिरों ने लंबे समय से कश्मीर पर कब्जा जमा रखा है लेकिन कश्मीरी कभी चुप्प नहीं हुए। उन्होंने हमेशा आजादी के लिए कहा है। लेकिन बदकिस्मती से उन्हें(कश्मीरियों) को सही दिशा नहीं मिली। राजनीतिक दलों ने उनकी कुर्बानियों का अपने मतलब के लिए फायदा उठाया है।”

आईएस पाकिस्तानी एजंसी आईएसआई के खिलाफ भी कश्मीरियों को लड़ने का आह्वान कर रहा है। वह कहता है- “भारत के रॉ और पाकिस्तानी आईएसआई के अधिकारियों और जासूसों को खत्म कर दो। इन लोगों ने अपना मजहब बेच दिया है और अल्लाह इन्हें सजा देगा। इनके नाम भले ही मुस्लिम हो लेकिन इनका शरिया से कोई वास्ता नहीं।” आखिर में आईएस इस्लामिक राज्य की बढ़ाई करता है और खिलाफत कानून स्थापित करने की बात कहता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App