ताज़ा खबर
 

कोरोना संकट के बीच PDP चीफ महबूबा मुफ्ती शिफ्ट की गईं घर, पर रहेंगी हिरासत में; PSA के तहत थीं नजरबंद

Coronavirus in India: पूर्व सीएम को जनसुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत हिरासत में रखा गया है। हालांकि उनकी हिरासत घर में भी जारी रहेगी।

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती। (पीटीआई)

Coronavirus in India: कोरोना वायरस संक्रमण के बीच जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को उनके घर में शिफ्ट किया गया है। मंगलवार (7 अप्रैल, 2020) को जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने ये जानकारी दी। पूर्व सीएम जन सुरक्षा कानून के तहत हिरासत में हैं। हालांकि उनकी हिरासत घर में भी जारी रहेगी। जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान निरस्त किए जाने के बाद से महबूबा मुफ्ती हिरासत में हैं।  दअसल पूर्व सीएम की ऐहतियातन छह महीने की हिरासत अवधि पूरे होने से पहले ही इस साल छह फरवरी को उनके खिलाफ जन सुरक्षा कानून (PSA) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया था।

जन सुरक्षा कानून के तहत दो प्रावधान होते हैं। लोक व्यवस्था और राज्य की सुरक्षा को खतरा। पहले प्रावधान के तहत किसी व्यक्ति को बिना मुकदमे के छह महीने तक और दूसरे प्रावधान के तहत किसी व्यक्ति को बिना मुकदमे के दो साल तक हिरासत में रखा जा सकता है। महबूबा मुफ्ती के अलावा हाल के दिनों में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को लगभग आठ महीने बाद मार्च के आखिरी सप्ताह में हिरासत से रिहा कर दिया गया था। प्रशासन ने उन पर भी पीएसए के तहत मामला दर्ज किया था।

Coronavirus in India LIVE Updates

रिहा होने के बाद उमर अब्दुल्ला ने कहा था कि पहला काम कोविड-19 से मुकाबला करना है और वह राजनीतिक हालात पर विस्तार से बाद में बात करेंगे। पूर्व सीएम उमर से पहले उनके पिता फारूक अब्दुल्ला को भी हिरासत से रिहा कर दिया गया था। पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला को 221 दिन की हिरासत में रखने के बाद 13 मार्च को रिहा कर दिया गया था।

उल्लेखनीय है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के चलते मंगलवार को मृतकों का आंकड़ा 114 हो गया है और कुल संक्रमितों की संख्या 4,421 पर पहुंच गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में 3,981 लोग अब भी संक्रमित हैं, करीब 325 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है और एक व्यक्ति विदेश जा चुका है। कुल मामलों में 66 विदेशी नागरिक हैं। सुबह नौ बजे तक मंत्रालय के अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक राजस्थान में तीन और लोगों की मौत हो गई जबकि त्रिपुरा में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा 45 मौत महाराष्ट्र में हुई है। इसके बाद गुजरात में 12, मध्य प्रदेश में नौ, तेलंगाना और दिल्ली में सात-सात, पंजाब में छह और तमिलनाडु में पांच मौतें हुई हैं। आंकड़ों के मुताबिक कर्नाटक में चार मौत हुई जबकि पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश और राजस्थान में तीन-तीन लोगों की मौत हुई है। वहीं जम्मू-कश्मीर और केरल में दो-दो मौतें हुई हैं। बिहार, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।

हालांकि राज्यों की ओर से सीधे जारी आंकड़ों पर आधारित पीटीआई की तालिका के मुताबिक सोमवार रात तक देश में कम से कम 138 लोगों की मौत हुई है जबकि संक्रमितों की कुल संख्या 4,683 है। इनमें से, 359 इलाज के बाद ठीक हो गए हैं। विभिन्न राज्यों द्वारा घोषित संख्या और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों में काफी अंतर है। अधिकारी इसके लिए प्रक्रियात्मक देरी बता रहे हैं जो इसे लेकर हो रही है कि कौन सा मामला किस राज्य से जुड़ा है। देश में संक्रमण के सबसे अधिक 748 मामले महाराष्ट्र में हैं। इसके बाद तमिलनाडु में 621 और दिल्ली में 523 मामले हैं। (एजेंसी इनपुट)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories