ताज़ा खबर
 

बीजेपी नेता ने जम्‍मू-कश्‍मीर सीएम महबूबा मुफ्ती को दी गालियां, उमर अब्‍दुल्‍ला बोले- FIR करो

उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा, "यह पूरी तरह से स्वीकार गंदी और अस्वीकार्य भाषा है, इसका इस्तेमाल महबूबा मुफ्ती के खिलाफ किया गया है, हम इसकी तीव्र आलोचना करते हैं और जम्मू-कश्मीर पुलिस से अपील करते हैं कि गाली देने वाले शख्स के खिलाफ एफआईआई दर्ज किया जाए।"

शनिवार 19 मई को श्रीनगर में किशनगंगा पावर स्टेशन का उद्घाटन करने के बीद पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम महबूबा मुफ्ती (फोटो-पीटीआई)

जम्मू-कश्मीर बीजेपी के एक नेता पर सीएम महबूबा मुफ्ती को गालियां देने का आरोप लगा है। इससे जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। हालांकि कई सोर्स पर इस वीडियो को डिलीट कर दिया गया है। इस वीडियो पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने कड़ी आपत्ति जताई है और आरोपी के खिलाफ FIR दर्ज करने की मांग की है। उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा, “यह पूरी तरह से स्वीकार गंदी और अस्वीकार्य भाषा है, इसका इस्तेमाल महबूबा मुफ्ती के खिलाफ किया गया है, हम इसकी तीव्र आलोचना करते हैं और जम्मू-कश्मीर पुलिस से अपील करते हैं कि गाली देने वाले शख्स के खिलाफ एफआईआई दर्ज किया जाए।” वीडियो में गाली देने वाले नेता की पहचान नहीं हो पाई है। वीडियो में दिख रहा है कि एक शख्स सीएम के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रहा है, वहीं साथ बैठे लोग हाय-हाय के नारे लगा रहे हैं।

इस शख्स ने चश्मा पहन रखा है और सड़के किनारे एक सभा में बैठा है। यहां पर बड़ी संख्या में लोग दिख रहे हैं। कुछ लोगों के हाथ में तिरंगा झड़ा भी दिख रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक गाली देने वाला शख्स एक बीजेपी विधायक का भाई है।  इस वीडियो के सामने आने के बाद जम्मू-कश्मीर के नेता गुस्सा हैं। उन्होंने आरोपी शख्स के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बता दें कि जम्मू-कश्मीर में बीजेपी और पीड़ीपी की साझा सरकार चल रही है।

कठुआ रेप केस के बाद जम्मू-कश्मीर की राजनीति में दोनों राजनीतिक दलों में मनमुटाव की स्थिति है। कठुआ रेप केस के आरोपियों के समर्थन में एक रैली करने के बाद बीजेपी के मंत्री लाल सिंह ने इस्तीफा दे दिया था।  लाल सिंह ने रविवार को एक विशाल रैली निकाली। इस रैली में वह कश्मीर की पार्टियों पर जमकर बरसे। कठुआ रेप केस में क्राइम ब्रांच ने 8 साल की पीड़िता के साथ रेप और हत्या के मामले में आठ लोगों खिलाफ केस दर्ज किया है। पीड़िता के पिता की दरख्वास्त पर सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई पंजाब के पठानकोर्ट में करवाने का निर्देश दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App