ताज़ा खबर
 

जम्‍मू-कश्‍मीर: सुरक्षाबलों-आतंकियों के मुठभेड़ में फंसे दर्जन भर से ज्‍यादा जर्नलिस्‍ट, देखिए कैसे जमीन पर लेट बचाई जान

पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ आतंकी माता वैष्णों देवी विश्वविद्यालय के करीब देखे गए हैं। इसके बाद सेना ने इलाके में तलाशी अभियान शुरु किया।

जम्मू कश्मीर में आतंकी मुठभेड़ के दौरान फंसे पत्रकारों ने जमीन पर लेटकर जान बचायी। (image source-Youtube/video grab image)

जम्मू कश्मीर में बीते 3 दिनों में सुरक्षाबलों ने कई मुठभेड़ के दौरान करीब 13 आतंकियों को ढेर करने में सफलता हासिल की है। हालांकि इस दौरान सुरक्षाबलों के कुछ जवान भी घायल हुए हैं। बता दें कि गुरुवार को जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर स्थित काकरियाल इलाके में हुई मुठभेड़ में 3 आतंकी मारे गए थे। इस दौरान मुठभेड़ की सूचना पाकर वहां पहुंचे कई पत्रकार भी इस मुठभेड़ के दौरान फंस गए थे। हालात ये थे कि पत्रकारों को जमीन पर लेटकर अपनी जान बचानी पड़ी। इस दौरान कुछ पत्रकार ऐसे हालात में भी लेटे-लेटे रिपोर्टिंग करते रहे। इस दौरान एक वीडियो भी सामने आयी है, जिसमें पत्रकार जमीन पर लेटे नजर आ रहे हैं और इस दौरान पीछे गोलियों की आवाज भी सुनायी दे रही है।

बता दें कि पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ आतंकी माता वैष्णों देवी विश्वविद्यालय के करीब देखे गए हैं। इसके बाद सेना ने इलाके में तलाशी अभियान शुरु किया। खबर के अनुसार, सुरक्षाबलों ने जैसे ही काकरियाल इलाके में तलाशी अभियान शुरु किया तो वहां छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। मुठभेड़ के बाद जम्मू कश्मीर के आईजी डॉ. एसडी सिंह जमवाल ने बताया कि इस मुठभेड़ में 3 आतंकी मारे गए जबकि 12 सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं। मारे गए आतंकी जैश ए मोहम्मद के सदस्य बताए गए थे।

आज शनिवार को एक बार फिर जम्मू कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों और सुरक्षाबलों की मुठभेड़ हुई है। जिसमें सेना ने 5 आतंकियों को ढेर कर बड़ी सफलता पायी है। सुरक्षाबलों को इलाके में कुछ आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर सर्च अभियान शुरु किया था। जिसके बाद आतंकियों ने फायरिंग कर दी। इसके बाद जवाबी कारवाई में सुरक्षाबलों ने 5 आतंकियों को ढेर कर दिया है। फिलहाल एहतियातन इलाके में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App