ताज़ा खबर
 

जम्मू कश्मीर: पुलिसवालों से भिड़े सेना के जवान, पुलिस स्टेशन में घुसकर छह को पीटा

जम्मू कश्मीर में आर्मी और पुलिसवालों के बीच झगड़ा होने की खबर है।

जम्मू कश्मीर: सेना ने छह पुलिसवालों को पीटा।

कुछ सैन्यकर्मियों ने जम्मू एवं कश्मीर के गांदेरबल जिले में एक जांच चौकी पर रुकने के लिए कहे जाने पर एक सहायक सब इंस्पेक्टर समेत आठ पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट की। वे सादे परिधानों में थे। जहां पुलिस ने शनिवार को कहा कि घटना में शामिल सैन्यकर्मियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है, वहीं सेना ने इसे ‘मामूली झगड़ा’ बताते हुए कहा है कि मामला सुलझा लिया गया है। जवान अमरनाथ यात्रा पूरी करके लौट रहे थे, जब श्रीनगर से 62 किलोमीटर दूर गुंड इलाके में पुलिस चौकी पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें रुकने को कहा। सूत्रों के मुताबिक, “गुस्साए जवानों ने आठ पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट की और गुंड पुलिस स्टेशन में तोड़फोड़ भी की।” पुलिस ने बताया कि सादी वेशभूषा में आए सैन्यकर्मियों को इसलिए रुकने को कहा गया था, क्योंकि सुरक्षा कारणों से शाम सात बजे के बाद राजमार्ग पर तीर्थयात्रियों की आवाजाही निषेध है। पुलिस ने कहा, राज्य के पुलिस प्रमुख एस.पी. वैद ने “कॉर्प्स कमांडर के समक्ष मामला उठाया है जो मामले की जांच कर रहे हैं। उन्होंने घटना में कार्रवाई का आश्वासन दिया है।”

HOT DEALS
  • Micromax Dual 4 E4816 Grey
    ₹ 11978 MRP ₹ 19999 -40%
    ₹1198 Cashback
  • Apple iPhone 7 128 GB Jet Black
    ₹ 52190 MRP ₹ 65200 -20%
    ₹1000 Cashback

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता राजेश कालिया ने एक बयान में कहा, “कल (शुक्रवार) सादी वेशभूषा में अमरनाथ यात्रा से लौट रहे कुछ सैन्यकर्मियों और गुंड के जम्मू एवं कश्मीर पुलिस के कर्मियों के बीच मामूली झगड़ा हुआ था।” कालिया ने कहा, “घटना में किसी को गंभीर चोट नहीं लगी। वरिष्ठ अधिकारियों की मध्यस्थता से मामला सुलझा लिया गया है। ऐसा फिर न हो, इसके लिए कदम उठाए गए हैं।”

घायलों को अस्पताल में दाखिल कराया गया है। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने मामले की जांच कराने की मांग की है। उन्होंने ट्वीट किया, “सेना किसी पुलिस स्टेशन में जम्मू एवं कश्मीर के पुलिसकर्मियों को क्यों पीटेगी? प्रशासन को इस मामले में तत्काल स्पष्टीकरण देना चाहिए/कार्रवाई करनी चाहिए।” अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक ने सेना को निशाने पर लेते हुए कहा, “सेना द्वारा कश्मीरी पुलिसकर्मियों की बुरी तरह पिटाई के बारे में जानकर दुख हुआ।”

एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने सेना के जवानों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। उन्होंने बताया कि इस झड़प में पुलिस चौकी में रखे रिकार्ड भी क्षतिग्रस्त हो गए। उन्होंने बताया कि घटना तब हुई जब सेना के जवान अमरनाथ यात्रा के बालटाल आधार शिविर से सादे कपडों में निजी वाहन में लौट रहे थे तो सोनमर्ग जांच चौकी पर पुलिसर्किमयों ने इन्हें रोका। लेकिन वाहन नहीं रुका और गांदेरबल की ओर आगे बढ़ने लगा। उन्होंने बताया कि वाहक के नहीं रुकने पर सोनमर्ग पुलिस ने गुंड चांजचौकी पर तैनात पुलिसकर्मी को पूरे मामले की जानकारी दी और वाहन को आगे रोकने के लिए कहा। जैसे ही यह वाहन गुंड पहुंचा जांचचौकी पर तैनात पुलिसकर्मी ने वाहन को रोका और वाहन को आगे नहीं बढ़ने दिया क्योंकि यात्रा वाहनों के निकलने का वक्त निकल चुका था।

पुलिस ने सेना के जवानों को बताया कि उन्हें किसी भी यात्रा वाहन को आगे नहीं बढ़ने देने के सख्त निर्देश हैं क्योंकि आगे बढ़ने पर खतरा हो सकता है। अधिकारी ने बताया कि इसके बाद जवानों ने 24 राष्ट्रीय रायफल्स की यूनिट से अपने सहयोगियों को बुला लिया जो कि वहां पहुंच गए और उन्होंने कथिततौर पर पुलिसर्किमयों के साथ मारपीट की। उन्होंने बताया कि इसके बाद जवान पुलिस थाने में घुस गए, तोड़फोड़ की, वहां रखे रिकॉर्ड को क्षतिग्रस्त किया और ड्यूटी पर तैनात पुलिसर्किमयों के साथ मार पीट की।

घटना में सहायक उपनिरीक्षक सहित सात पुलिसकर्मी घायल हो गए और उन्हें उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। सेना के वरिष्ठ अधिकारी और पुलिस घटना की जांच के लिए मौका ए वारदात पर पहुंच गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App