ताज़ा खबर
 
title-bar

माउंट एवरेस्‍ट फतह करना चाहती हैं कश्‍मीर की नाहिदा, सरकार साथ नहीं तो खुद जुटा रहीं पैसे

श्रीनगर के एक इलाके में जन्मी नाहिदा मंजूर ने माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई करने का ख्वाब पाल रखा है। वह अपने परिवार की तीन बेटियों में से मंझली बेटी हैं। नाहिदा के मुताबिक वह 10 साल की उम्र से ही ट्रैकिंग करती आई हैं।

नाहिदा के मुताबिक वह 10 साल की उम्र से ही ट्रैकिंग करती आई हैं। साल 2017 में उन्होंने इस पेशेवर तरीके से अपना लिया।(फोटो- Twitter/Nahida)

कश्मीर के चट्टानों से भी मजबूत  फैलादी हौसलों से नई इबारत लिखने की चाह में कश्मीर की एक बेटी सरकारी मदद ना मिलने पर खुद से आर्थिक मदद जुटा रही है। श्रीनगर के  एक इलाके में जन्मी नाहिदा  मंजूर ने माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई करने का ख्वाब पाल रखा है। वह अपने परिवार की तीन बेटियों में से मंझली बेटी हैं। नाहिदा के मुताबिक वह 10 साल की उम्र से ही ट्रैकिंग करती आई हैं। साल 2017 में उन्होंने इस पेशेवर तरीके से अपना लिया। नाहिदा कहती है कि कश्मीर की पहली महिला ट्रैकर होने के नाते वह चाहती हैं कि सब उसकी मदद करें।
नाहिदा ने बताया कि उन्होंने  www.ketto.org  वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन फंडिंग कर पैसा जुटाने का फैसला लिया है। नाहिदा अपने अभ्यास में कोई कमी नहीं रखती हैं। वह रोजाना करीब 6 किलोमीटर दौड़ती हैं।उनका पूरा ध्यान पहाड़ चढ़ने पर है। वह पूरा अभ्यास कर रही है ताकि वह पहाड़ सही से चढ़ पाएं।

नाहिदा के मुताबिक  उनकी मदद के लिए टीसीआई नामक एक निजी कंपनी ने 7.5 लाख स्पॉन्सर करने का भरोसा दिलाया है। एक और कंपनी ने नाहिदा की मदद के लिए पेशकश की है। लेकिन नाहिदा का कहना है उन्हें उनके सपने तक पहुंचे के लिए करीब 30 लाख का खर्च लगेगा। नाहिदा कहती हैं कि वह उम्मीद करती हैं कि 1 अप्रैल तक पैस जमा हो सकेगा ताकि वह काठमांडू से शुरू होने वाले समिट का वो हिस्सा बन पाएंगी।
नाहिदा की बड़ी बहन रोमाना के अनुसार लड़कियां कई खेलों में अच्छा कर रही हैं लेकिन पर्वतारोहण अपने आप में अलग खेल है। वहीं, मां रजिया अंजुम का कहना है कि हर लड़की की तरह इसे भी बहुत कुछ सहना पड़ा।पर मैंने अपना ध्यान अपने बच्चों पर दिया और हमेशा उन्हें प्रोत्साहित करती रही। बता दें कि माउंट एवरेस्ट 8,848 मीटर (29,029 फीट) ऊंचाई पर स्थित दुनिया का सबसे ऊंची पर्वत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App