ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: बडगाम जिले में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान इलाके के लोगों ने सुरक्षा बलों पर बरसाए पत्थर, फायरिंग में दो की मौत

मध्य कश्मीर के बडगाम जिले के चदूरा इलाके में आज आतंकवादियों एवं सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ जारी है।

सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी करते हुए लोग। (Source: ANI)

मध्य कश्मीर के बडगाम जिले के चदूरा इलाके में आज आतंकवादियों एवं सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ जारी है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना के बाद चदूरा क्षेत्र के दरबाग इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान शुरू किया। वहीं इस एनकाउंटर के दौरान एक शख्स की मौत होने की भी खबर सामने आ रही है। इसी बीच एनकाउंटर साइट पर मुठभेड़ के दौरान क्षेत्रियों लोगों की सुरक्षा बलों के साथ झड़प होने की भी जानकारी मिल रही है। समाचार एजंसी एएनआई के मुताबिक मुठभेड़ की जगह पर मौजूद लोगों ने सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी करना शुरू कर दिया।

वहीं अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पत्थबाजी के दौरान दो स्थानीय लोगों की मौत हो गई है और 17 लोग घायल हो गए हैं। बताया जा रहा है कि मारे गए लोगों में से एक शख्स की उम्र लगभग 22 साल थी और फायरिंग के दौरान उसकी मौत हो गई। एनकाउंटर के दौरान पत्थरबाजी रोकने के लिए सुरक्षा बलों को पत्थरबाजी कर रहे लोगों पर फायरिंग करनी पड़ी। एक पुलिस अधिकारी ने मुताबिक सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना के बाद चदूरा क्षेत्र के दरबाग इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान शुरू किया था।

गौरतलब है सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कुछ समय पहले कहा था कि सुरक्षा बलों के ऑपरेशन्स में जो कोई बाधा डालेगा तो सेना उससे सख्ती से निपटेगी। अंग्रेजी अखबार मेल टुडे ने अपनी रिपोर्ट में सूत्रों के हवालों से लिखा था कि सेना के जवानों को कहा गया है कि वे पत्थरबाजी होने पर लाठियां छोड़कर, राइफल उठाएं। रावत ने यह भी कहा था कि जम्मू कश्मीर में स्थानीय लोग जिस तरह से सुरक्षा बलों को अभियान संचालित करने में रोक रहे हैं उससे अधिक संख्या में जवान हताहत हो रहे हैं, ऐसे लोगों के साथ सख्ती से पेश आया जाएगा।

इसके अलावा सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा था कि जो लोग आतंकियों के एंकाउंटर में बाधा खड़ी करते हैं और सेना का मनोबल नहीं बढ़ाते वह भी एक तरह से आतंकियों के कार्यकर्ता ही हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि जो लोकल लोग आईएसआईएस और पाकिस्तान के झंडे दिखाकर लोगों के बीच दहशत का माहौल पैदा करना चाहते हैं उन्हें भी राष्ट्रद्रोही माना जाएगा और उन्हें बक्शा नहीं जाएगा।

देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App