ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान के सीजफायर उल्लंघन में भारतीय सेना का एक जवान शहीद, दो नागरिक घायल

भारत की ओर से भी इस फायरिंग का माकूल जवाब दिया गया है

फोटो का इस्तेमाल प्रतिकात्मक तौर पर किया गया है।

पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू-कश्मीर के नौशेरा और केजी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है। इसमें भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया है। शहीद हुआ जवान सेना के इंजीनियरिंग फोर्स का था। इसके अलावा दो नागरिक घायल भी हुए हैं। सेना ने बताया कि पाकिस्तान की ओर से मोर्टार से भारी गोलाबारी की गई है। आखिरी रिपार्ट आने तक दोनों ओर से गोलीबारी हो रही थी। भारत भी इस फायरिंग का माकूल जवाब दे रहा है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष मेहता ने आईएएनएस को बताया, “पाकिस्तानी सेना ने एलओसी पर राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर और पुंछ के कृष्णाघाटी सेक्टर में हमारी चौकियों पर अंधाधुंध गोलीबारी और गोलाबारी शुरू कर दी।”

उन्होंने कहा, “छोटे हथियारों, स्वचालित हथियारों और मोर्टार से हमला किया गया।” नौशेरा में सुबह 7.20 और कृष्णाघाटी में 7.40 पर गोलीबारी शुरू हुई। मेहता ने बताया, “हमारे सुरक्षाबल बड़ी ही मुस्तैदी से इसका जवाब दे रहे हैं।” इसके अलावा गुरुवार को ही जम्मू-कश्मीर में सोपोर के नाथी पोरा इलाके में सुरक्षाबल के जवानों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई है। यहां जवानों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है, जिनके पास से दो एक-47 हथियार और भारी मात्रा में गोला बारूद बरमाद किए गए हैं।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 Plus 32 GB Black
    ₹ 59000 MRP ₹ 59000 -0%
    ₹0 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32GB Venom Black
    ₹ 9597 MRP ₹ 10999 -13%
    ₹480 Cashback

गत 17 मई को पाकिस्तान की सेना ने राजौरी जिले के बालाकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर स्थित अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी की थी। 15-16 मई को राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना ने अग्रिम इलाकों और रहवासी क्षेत्रों पर गोले बरसाए थे। इस वर्ष मई माह में पाकिस्तानी सेना की ओर से गोलेबारी और गोलीबारी से लगभग 12,000 लोग प्रभावित हुए। पाकिस्तानी सेना ने 13 मई को नौशेरा इलाके में नियंत्रण रेखा पर रहवासी इलाकों और अग्रिम चौकियों पर मार्टार से गोले दागे थे जिसमें दो आम नागरिकों की मौत हो गई थी जबकि तीन घायल हो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App