ताज़ा खबर
 

J&K: बीडीसी चुनाव से पहले BJP फॉर्म में, समर्थन देने की तैयारी में नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी के नेता

एनसी और पीडीपी के वरिष्ठ नेता फारूख अब्दुल्ला , उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती गत 5 अगस्त से नजरबंद हैं। नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी के अलावा कांग्रेस के पंचायत सदस्य भी भाजपा को समर्थन देने का मन बना रहे हैं।

amit shahभाजपा अध्यक्ष अमित शाह, महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला

Jammu Kashmir News: जम्मू-कश्मीर में मोदी सरकार के बड़े फैसलों के बीच एक बार फिर सियासी गलियारों में सरगर्मियां बढ़ गई हैं।दरअसल यहां आर्टिकल 370 और 35-ए हटाए जाने के बाद पहली बार स्थानीय निकायों के चुनाव होने जा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक इन चुनावों में एनसी (नेशनल कॉन्फ्रेंस) और पीडीपी ( पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी) के पंचायत सदस्य बीडीसी के आगामी चुनाव में भाजपा को अपना समर्थन दे सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक समर्थन करने के लिए पीडीपी-एनसी के नेता बीजेपी में शामिल होने का मन बना रहे हैं।

नजरबंद हैं आला नेताः बता दें कि एनसी और पीडीपी के वरिष्ठ नेता फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती बीते 5 अगस्त से नजरबंद हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी के अलावा कांग्रेस के पंचायत सदस्य भी भाजपा को समर्थन देने का मन बना रहे हैं। इसके अलावा भाजपा भी अन्य पार्टियों का समर्थन प्राप्त करने की पुरजोर कोशिश में लगी हुई है ताकि बीडीसी चुनाव में उनके प्रत्याशी को ज्यादा से ज्यादा समर्थन मिल सके।
National Hindi News, 5 October Top Breaking 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

9 अक्टूबर है नामाकंन की आखिरी तारीखः जानकारी के मुताबिक एनसी और पीडीपी बीडीसी के चुनाव में अपने उम्मीदवारों का समर्थन करने के लिए जनादेश जारी कर सकते हैं। बता दें कि जम्मू-कश्मीर में नामांकन पत्र भरने की आखिरी तारीख 9 अक्टूबर है। कुछ स्थानीय नेताओं ने चुनाव जल्दबाजी में कराने का आरोप भी लगाया है।

इस तारीख को होंगे चुनावः बता दें कि राज्य में ब्लॉक स्तर पर निर्वाचन आयोग ने 24 अक्टूबर को बीडीसी चुनाव कराने का फैसला किया है। गौरतलब है कि जिन सरपंचों के जरिए बीडीसी चुनाव कराए जाते हैं उन्हीं की कई सीटें कई इलाकों में खाली हैं। इसके पीछे का कारण मुख्य राजनीतिक पार्टियों और लोगों का बहिष्कार बताया जा रहा है।

Next Stories
1 गरीब बच्चों को फ्री में पढ़ाता था IIT Roorkee का छात्र, राष्ट्रपति ने दिया गोल्ड मेडल
2 ओवर-स्पीड डंपर से कुचलकर हुई थी ASI की मौत, परिजनों को मिलेगा 96 लाख रुपए का मुआवजा
3 Haryana Election 2019: चुनाव से ऐन पहले हरियाणा कांग्रेस को बड़ा झटका, सीनियर नेता अशोक तंवर ने दिया इस्तीफा
ये पढ़ा क्या?
X