ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: फेसबुक पर वीडियो अपलोड करने पर सेना का जवान अरेस्ट

एक स्थानीय निवासी ने रजौरी डीसी मोहम्मद एजाज के पास जवान के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी की। डीसी ने बताया, 'मैंने पुलिस को आदेश दिया था कि आरोपी व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।'

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (फोटो सोर्स- पीटीआई)

जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले में एक आर्मी जवान को सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट करना काफी महंगा पड़ गया। एजाज अहमद नाम के 23 वर्षीय जवान को फेसबुक पर ‘सांप्रदायिक तनाव पैदा करने की क्षमता रखने वाला’ वीडियो पोस्ट करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। अहमद रजौरी के अग्रती गांव का रहने वाला है। पुलिस ने जानकारी दी है कि एजाज अहमद 9वीं जम्मू-कश्मीर लाइट इन्फैंट्री के जवान के तौर पर सिक्किम में तैनात था और छुट्टियों में अपने घर आया हुआ था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक एक स्थानीय निवासी ने रजौरी डीसी मोहम्मद एजाज के पास जवान के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी की। डीसी ने बताया, ‘मैंने पुलिस को आदेश दिया था कि आरोपी व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए, क्योंकि वह जिस पोस्ट पर था उसे ध्यान में रखते हुए उसके द्वारा किया गया कोई भी काम सीमा पर स्थित जिले में लॉ एंड ऑर्डर को हानि पहुंचा सकता था।’

पुलिस के सूत्रों ने जानकारी दी है कि आर्मी के जवान ने फेसबुक पर कुछ दिनों पहले एक वीडियो पोस्ट किया था, भले ही उस पोस्ट में जवान ने अपनी तरफ से कुछ लिखा नहीं था, उसने यह भी जानकारी नहीं दी थी कि वह घटना किस स्थान पर हुई थी, लेकिन वीडियो देखकर ऐसा लग रहा था कि यह सीमा पर स्थित जिले के ही किसी जगह की घटना थी और उसके कारण जिले में सांप्रदायिक तनाव भी पैदा हो सकता था। जांच करने पर पुलिस को पता चला कि वह घटना पीओके में हुई थी। रनबीर पेनल कोड के विभिन्न प्रावधानों के तहत आर्मी जवान के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। बता दें कि जम्मू कश्मीर में अक्सर ही सांप्रदायिक तनाव होने का खतरा बना रहता है, इसलिए इस तरह का पोस्ट काफी संवेदनशील माना जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App