ताज़ा खबर
 

कांग्रेस तो अब इस्लामाबाद जा रही है, कपिल सिब्बल ने पार्टी पर उठाए सवाल तो अर्नब गोस्वामी ने दिया यह जवाब

अनुच्छेद 370 की बहाली के लिए पहले पाकिस्तान और अब चीन का नाम लिए जाने को लेकर गौरव आर्य ने कहा कि गद्दारी करने वालों के लिए कोई माफी नहीं है। जो देश के खिलाफ बोलेगा उसे सिर छिपाने के लिए छत नहीं मिलेगी।

article 370, gupkar, farooq abdullah, kapil sibbal, arnab goswami कपिल सिब्बल (बाएं) और अर्नब गोस्वामी। (फाइल फोटो)

बिहार चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद पार्टी में विरोध के स्वर रुकने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। तारिक अनवर ने महागठबंधन की हार के पीछे कांग्रेस के कमजोर प्रदर्शन को बड़ी वजह बताया। इसी क्रम में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने भी एक इंटरव्यू में कहा  कि ऐसा लगता है कि पार्टी नेतृत्व ने शायद हर चुनाव में पराजय को ही अपनी नियति मान ली है।

उन्होंने कहा कि बिहार ही नहीं, उपचुनावों के नतीजों से भी ऐसा लग रहा है कि देश के लोग कांग्रेस पार्टी को प्रभावी विकल्प नहीं मान रहे हैं। सिब्बल की इस बात को लेकर रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी ने निशाना साधा। सिब्बल का कहना था कि आज हमारी पार्टी कहा जा रही है? इस पर तंज कसते हुए अर्नब ने कहा कि आपकी पार्टी अब इस्लामाबाद जा रही है। अर्नब ने कहा कि मैं कपिल सिब्बल से कहना चाहता हूं…ओ कपिल सिब्बल तुम्हारा सवाल है कि पार्टी कहां जा रही है… तो तुम्हारी पार्टी इस्लामाबाद जा रही है।

डिबेट में शामिल रिटायर्ड मेजर गौरव आर्य ने भी कांग्रेस पर निशाना साधा। गौरव आर्य ने कहा कि इनके पार्टी वाले खुद अपनी पार्टी पर सवाल उठा रहे हैं कि पार्टी गलत दिशा में जा रही है। गौरव आर्य ने भी कपिल सिब्बल के सवाल का हवाला दिया। अनुच्छेद 370 की बहाली के लिए पहले पाकिस्तान और अब चीन का नाम लिए जाने को लेकर गौरव आर्य ने कहा कि गद्दारी करने वालों के लिए कोई माफी नहीं है। जो देश के खिलाफ बोलेगा उसे सिर छिपाने के लिए छत नहीं मिलेगी।

शो में शामिल एक अन्य पैनलिस्ट माजिद हैदरी पर तीखा प्रहार करते हुए गौरव आर्य ने कहा कि आपका कांग्रेस को बोलना अच्छा नहीं लगता। बेगानी शादी में अब्दुल्ला दिवाना वाली बात है। शो में  राजनीतिक विश्लेषक अवनिजेश अवस्थी ने गुपकर समूह पर निशाना साधते हुए कहा कि अब इनको पाकिस्तान पर भरोसा नहीं रहा इसलिए ये चीन से मदद मांग रहे हैं।

फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को चीन भेज देना चाहिए। वहां पर उइगर मुसलमान हैं, वो उनके बीच में जाकर चुनाव लड़े। वहीं, डिफेंस एक्सपर्ट मेजर जनरल रिटायर्ड जीडी बख्शी ने कहा कि महबूबा मुफ्ती कश्मीर मामले पर फरियाद लेकर पाकिस्तान के पास गईं, ये लोग गद्दार हैं। लोकतंत्र है तभी तो इन लोगों को छूट है, वरना ये लोग सलाखों के पीछे होते।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 तमिलनाडु में मजबूती से उपस्थिति दर्ज कराने में जुटी भाजपा, करुणानिधि के बेटे संग करेगी जुगलबंदी
2 यूनिवर्सिटी में वीसी रहते लगा था बहाली में धांधली का आरोप, जाने कौन हैं मंत्री पद की शपथ लेने वाले मेवा लाल चौधरी
3 नीतीश की शपथ के बाद बोले चिराग- आपको सीएम बनाने के लिए भाजपा को बधाई
यह पढ़ा क्या?
X