scorecardresearch

पाकिस्तान से नहीं होगी बात, 3 परिवारों पर निशाना साध अमित शाह बोले- हमने कराया 56 हजार करोड़ का निवेश

Jammu and Kashmir: अमित शाह ने पाकिस्तान से किसी भी तरह की बातचीत से साफ इनकार किया।

पाकिस्तान से नहीं होगी बात, 3 परिवारों पर निशाना साध अमित शाह बोले- हमने कराया 56 हजार करोड़ का निवेश
बारामूला में रैली को संबोधित करते केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह। (फोटो सोर्स: एक्सप्रेस)

Jammu and Kashmir: जम्मू-कश्मीर (J & K) को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद घाटी (बारामूला) में बुधवार (5 अक्टूबर, 2022) को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपनी पहली सार्वजनिक रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान से किसी तरह की बातचीत से साफ इनकार किया। साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्र की बीजेपी सरकार में तीन साल के अंदर 56 हजार करोड़ का निवेश हुआ है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में तीन परिवार ने सत्तर साल शासन किया, लेकिन इन तीन परिवारों ने जम्मू कश्मीर के लोगों के लिए कुछ नहीं किया।

अमित शाह ने रैली में कहा, ‘कुछ लोग मुझे सुझाव दे रहे हैं कि मुझे पाकिस्तान से बात करनी चाहिए, जो यहां सत्तर साल से शासन कर रहे हैं, वे मुझे सुझाव दे रहे हैं।’ गृह मंत्री ने कहा कि मैं स्पष्ट करता हूं कि मैं पाकिस्तान से बात नहीं करना चाहता। मैं बारामूला के गुर्जरों और पहाडि़यों से बात करूंगा। मैं कश्मीर के युवाओं से बात करूंगा। शाह ने कहा कि पाकिस्तान ने यहां आतंकवाद फैलाया है। उन्होंने कश्मीर के लिए क्या अच्छा किया है।’

गृह मंत्री ने कहा, ‘मैंने महबूबा मुफ्ती का एक ट्वीट देखा। उन्होंने कहा था कि गृह मंत्री को हिसाब देने के बाद ही वापस जाना चाहिए, जो उन्होंने किया है। शाह ने कहा, ‘महबूबा मुफ्ती आप कान खोलकर सुनिए, हमने जो किया है, उसका हिसाब हम देंगे, लेकिन आपने ( महबूबा मुफ्ता) और फारूक साहब आप दोनों लोग बताइए कि कश्मीर में 70 साल में कितना निवेश आया, कितने उद्योग लगे, कितने कारखाने खुले हैं और कितने युवाओं को रोजगार दिया गया है। शाह ने कहा कि 70 साल में सिर्फ 15, 000 करोड़ रुपए का निवेश हुआ है। जबकि सिर्फ तीन साल के अंदर पीएम मोदी 56 हजार करोड़ रुपये का निवेश लेकर आए।

गृह मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र को जमीनी स्तर पर ले जाना है। उन्होंने दावा किया, ‘इससे पहले लोकतंत्र तीन परिवारों, 87 विधायकों और तीन सांसदों तक सीमित था।’ हम इसे गांवों तक ले गए हैं, 30000 पंचों और सरपंचों तक ले गए।

शाह ने आगे कहा कि मोदी जी यहां उद्योग लाए और युवाओं के हाथों में मोबाइल और लैपटॉप दिए। गुप्कर मॉडल ने हमें पुलवामा हमला दिया। पुलवामा में मोदी मॉडल ने एम्स दिया। गुप्कर मॉडल ने युवाओं के हाथों में पत्थर और मशीनगन और बंद कॉलेज दिए, जबकि मोदी मॉडल ने हमें आईआईएम, आईआईटी, निफ्ट और एनईईटी दिया।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 05-10-2022 at 06:11:38 pm