ताज़ा खबर
 

कश्‍मीर: मुठभेड़ में मारा गया A++ श्रेणी का आतंकी, हिज्‍बुल छोड़ अल-बद्र में हुआ था शामिल

बकौल पुलिस, "तलाश अभियान के दौरान आतंकियों ने अचानक से सुरक्षा बलों पर फायरिंग कर दी थी। बल ने इसके बाद आतंकियों से सरेंडर करने के लिए कहा, पर वे नहीं माने।"

कटपोड़ा मुठभेड़ में मारा गया जीनत-उल-इस्लाम। (फाइल फोटो)

जम्मू और कश्मीर के कुलगाम में शनिवार (12 जनवरी, 2019) को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ के दौरान अल-बद्र के सरगना जीनत उल-इस्लाम समेत दो आतंकी मार गिराए गए। पुलिस के मुताबिक, “कटपोरा मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए। उनकी शिनाख्त जीनत उल-इस्लाम और शकील के रूप में हुई। दोनों ही आतंकी गतिविधियों में संलिप्त थे।”

इस्लाम, ‘ए++’ श्रेणी का आतंकी था। बीते साल नवंबर में उसने हिजबुल मुजाहिद्दीन छोड़ दिया था। उसके कुछ दिन बाद वह अल-बद्र से जुड़ गया था। दोनों संगठनों के बीच अल-बद्र को मजबूत करने के लिए हुए समझौते के बाद वह इस (अल-ब्रद) आतंकी संगठन का हिस्सा बना था।

समाचार एजेंसी भाषा ने पुलिस के एक अधिकारी के हवाले से कहा कि इस्लाम 2015 से सक्रिय था। जीनत पर साल 2017 में पुलिस हिरासत से आतंकी नावेद जट को भगाने का आरोप था। वह सुरक्षाबलों की हिटलिस्ट में 10वां आतंकी था, जिसे ढेर किया जा चुका है। वह मूलरूप से शोपियां का रहने वाला था।

पुलिस के मुताबिक, उन्हें आतंकियों के छिपे होने की गुप्त सूचना मिली थी। दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के यारीपोरा स्थित कटपोरा इलाके में शनिवार शाम सुरक्षा बलों ने घेराबंदी कर ली है और तलाश अभियान चलाया था।

बकौल पुलिस, “तलाश अभियान के दौरान आतंकियों ने अचानक से सुरक्षा बलों पर फायरिंग कर दी थी। बल ने इसके बाद आतंकियों से सरेंडर करने के लिए कहा, पर वे नहीं माने। गोलीबारी जारी रखी, जिसका सुरक्षा बलों ने भी करारा जवाब दिया। मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर कर दिए गए। घटना के बाद सुरक्षा बलों ने आतंकियों के शव के पास से हथियार व गोला-बारूद भी बरामद किए।

यही है बिरयानी वाला आतंकीः खूंखार आतंकी जीनत का बीते साल एक वीडियो खूब वायरल हुआ था, जिसमें वह कुछ अन्य आतंकियों के साथ बिरयानी खाते दिख रहा था। जानकारों के मुताबिक, वह घाटी में सबसे पुराना आतंकी था। वह आतंकी बुरहान वानी का नजदीकी माना जाता था। उस पर सेना ने 12 लाख रुपए का ईनाम रख रखा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App