ताज़ा खबर
 

तमिलनाडु में भड़की हिंसा, जल्लीकट्टू समर्थकों ने थाने में लगाई आग, गाड़ियां भी फूंकीं

राज्य सरकार ने अध्यादेश लाकर कई स्थानों पर रविवार को जल्लीकट्टू का आयोजन करवाया,लेकिन अध्यादेश से नाखुश प्रदर्शनकारी मुद्दे का स्थायी समाधान चाहते हैं।

पुलिस की कार्रवाई के दौरान मानवश्रंखला बनाकर अपना विरोध जताया। इसके बाद पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज करना शुरू कर दिया।

जल्लीकट्टू को लेकर तमिलनाडु में प्रदर्शन बहुत हिंसक हो गया है। पुलिस ने जलीकट्टू के आयोजन के स्थायी समाधान की मांग को लेकर पिछले एक सप्ताह से मरीना बीच पर प्रदर्शन कर रहे सैकड़ों प्रदर्शनकारियों को सोमवार तड़के हटाना शुरू कर दिया, जिसके बाद भीड़ का गुस्सा भड़क गया। इसके बाद 50 प्रदर्शनकारियों ने आइस हाउस पुलिस स्टेशन में आग लगा दी और 15 गाड़ियों को फूंक दिया। विरोध कर रहे लोगों ने पुलिस स्टेशन पर पत्थर भी फेंके। बताया जा रहा है कि पत्थरबाजी में 22 पुलिसवाले घायल हुए हैं। राज्यों के अन्य हिस्सों से भी हिंसा की खबरें आ रही हैं। टाइम्स अॉफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की कार्रवाई के दौरान मानवश्रंखला बनाकर अपना विरोध जताया। इसके बाद पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज करना शुरू कर दिया। ऐसे में स्थिति और बेकाबू हो गई और प्रदर्शनकारी आगजनी व हिंसा पर उतारू हो गए।  पुलिस ने प्रदर्शकारियों को वहां से खदेड़ा और आग बुझाने का काम शुरू किया गया।

प्रदर्शनकारियों ने टायरों में आग लगाकर उन्हें पुलिस स्टेशन की तरफ फेंकना शुरू कर दिया। जवाब में पुलिस ने भी प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले दागे। एमटीसी की बसों पर भी शहर में कई जगह पत्थरबाजी हुई है जिसमे कुछ यात्रियों को चोटें आई हैं। बता दें कि राज्य सरकार ने अध्यादेश लाकर कई स्थानों पर रविवार को जल्लीकट्टू का आयोजन करवाया,लेकिन अध्यादेश से नाखुश प्रदर्शनकारी मुद्दे का स्थायी समाधान चाहते हैं। पुलिस ने रविवार रात मरीना बीच पहुंचकर प्रदर्शनकारियों से सोमवार सुबह मरीना बीच से चले जाने को कहा था, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के निर्देशों को नजरअंदाज कर दिया, जिसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को जबरन वहां से हटाना शुरू कर दिया।

पुलिस ने भीड़ पर लाठियां भी चलाईं। हालांकि महिलाओं और बच्चों को भीड़ के बीच से सुरक्षित निकाला गया। प्रदर्शनकारी समुद्र की ओर दौड़े और वहां एक-दूसरे का हाथ थामे नारेबाजी करने लगे। पुलिस ने मरीना बीच जाने वाले सभी रास्तों को ब्लॉक कर दिया। पुलिस ने राज्य के अन्य इलाकों से भी प्रदर्शनकारियों को चले जाने को कहा है। तिरुनेलवेली जिले में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के आग्रह पर प्रदर्शन रोक दिया। वहीं मदुरै में हालांकि प्रदर्शनकारियों का प्रदर्शन जारी है और पुलिस तथा उनके बीच बातचीत चल रही है।

Next Stories
1 जीएम की रिटायरमेंट पार्टी में गाने से मना किया तो महिला रेलवे कर्मचारी को थमा दिया ट्रांसफर नोटिस, विवाद बढ़ने पर किया रद्द
2 बेंगलुरु में 4 पैर और दो पुरुष लिंग के साथ जन्मा बच्चा, मां ने बताया भगवान का तोहफा
3 एलपीजी सिलेंडर की ऑनलाइन बुकिंग पड़ रही महंगी
ये पढ़ा क्या?
X