ताज़ा खबर
 

जयपुर-जोधपुर इंटरसिटी ट्रेन का इंजन तीन बार डिब्‍बों से हुआ अलग, यात्री परेशान

टना खारिया खंगार व गोटन स्टेशन के बीच हुई। इंजन का हुक खुलने से गाड़ी का वैक्यूम डाउन होने पर गाड़ी बीच जंगल में लगभग 45 मिनट खड़ी रही।

Author जयपुर | Published on: March 7, 2016 6:19 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

जोधपुर से जयपुर जा रही जोधपुर-जयपुर इन्टरसिटी ट्रेन की कपलिंग(हुक) तीन बार खुल गई। इससे ट्रेन का इंजन तो आगे चला गया जबकि डिब्‍बे पीछे छूट गया। घटना खारिया खंगार व गोटन स्टेशन के बीच हुई। इंजन का हुक खुलने से गाड़ी का वैक्यूम डाउन होने पर गाड़ी बीच जंगल में लगभग 45 मिनट खड़ी रही। गाड़ी के मेड़ता रोड़ पहुंचने पर यात्रियों ने बताया कि खारिया खंगार व गोटन के बीच पिलर संख्या 546 के पास शाम 7 बजे जोधपुर-जयपुर इन्टरसिटी का इंजन अचानक ट्रेन के डिब्बों पीछे को छोड़कर दो किलोमीटर दूर चला गया। उसके चलते गाड़ी को बीच जंगल में 40 मिनट तक खड़ा रखा गया। जैसे-तैसे हुक जोडकर गाड़ी को 7 बजकर 45 मिनट पर गोटन के लिए रवाना किया गया। गोटन स्टेशन पर स्टोपेज के बाद वापस रवाना किया तो गोटन जोगीमगरा के बीच एक बार फिर से इंजन का हुक खुल गया।

फिर से इंजन गाडी को पीछे छोडकर दो किलोमीटर दूर चला गया। दो बार हुक खुलने की सूचना चालक द्वारा मेड़ता रोड स्टेशन मास्टर व जोधपुर कंट्रोल रूम को दी गई। तकरीबन 40 मिनट बाद एक बार फिर से इंजन का हुक तार से बांध कर गाड़ी को मेड़ता रोड के लिए रवाना किया गया। गाड़ी अपने निर्धारित समय 7 बजकर 28 मिनट से 1 घण्टा 30 मिनट की देरी से रात 9 बजे मेड़ता रोड पहुंची। गाडी के प्लेटफार्म पर पहुंचते ही रेलवे के स्टेशन अधीक्षक अमरसिंह, कैरेज के भूरसिंह, लोको इंस्पेक्टर बलजीतसिंह सहित कैरेेज कर्मचारियों ने मात्र दस मिनट में हुक का दुरूस्त कर सवा नौ बजे ट्रेन को आगे रवाना किया।

गाडी के मात्र 25 किलोमीटर चलते ही रेण व जालसू रेलवे स्टेशन के बीच फिर इंजन का हुक खुलने से गाड़ी में लगे झटकों से यात्रियों की सांसें अटकने लगी। जहां एक ओर रेल कर्मचारियों ने अधिकारियों की उपस्थिति में औपचारिकता निभाकर यात्रियों की जिन्दगी से खिलवाड़ करते हुए मेड़ता रोड से रवाना करवा दी। डिब्‍बों के इंजन से अलग होने के कारण बिजली भी गुल हो गई। इससे भी यात्री परेशान हुए। ऑटोमेटिक ब्रेक होने के चलते ट्रेन रूकी। उत्‍तर पश्चिम रेलवे के पीआरओ तरुण जैन ने बताया कि इसके चलते ट्रेन चार घंटे देरी से रात सवा तीन बजे के करीब जयपुर पहुंची।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X