ताज़ा खबर
 

Jaipur clashes: दो पक्षों में बवाल के बाद हिंसा, 10 थाना क्षेत्रों में धारा 144 लागू; मोबाइल- इंटरनेट सेवा बंद

Jaipur clash News; जयपुर के गलता गेट, ईदगाह सहित कुछ इलाकों में सोमवार रात दो समुदायों में तनाव और पत्थरबाजी की घटनाएं हुई थीं। लेकिन अगले ही दिन रात में शहर के कई इलाकों में उपद्रव शुरू हो गया।

Author जयपुर | August 14, 2019 3:03 PM
जयपुर में बवाल के बाद तैनात पुलिस फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

Jaipur Clash News: राजस्थान (Rajasthan) की राजधानी जयपुर (Jaipur) के कुछ इलाकों में सांप्रदायिक तनाव और उपद्रव को देखते हुए 10 थाना क्षेत्रों में पांच दिन के लिए धारा 144 लगा दी गई है। इन इलाकों में मोबाइल और इंटरनेट सेवा पहले से ही बंद है। पुलिस ने स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन को देखते हुए सुरक्षा के अतिरिक्त इंतजाम किए हैं। राजस्थान के पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र सिंह ने बुधवार (14 अगस्त) को मीडिया से बात करते हुए कहा कि तनाव और उपद्रव प्रभावित इलाकों में जरूरी एहतियाती कदम उठाते हुए अतिरिक्त बल तैनात किए गए हैं। पुलिस अब तक 15 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

पुलिस महानिदेशक ने कहा, ‘‘दस थाना क्षेत्रों में पांच दिन के लिए धारा 144 लगाई गई है। पिछले तीन दिन में उपद्रव की घटनाओं के सिलसिले में पांच मामले दर्ज किए गए हैं। अब तक कुल 15 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। अन्य शरारती तत्वों की गिरफ्तारी भी शीघ्र की जाएगी।’’ सिंह ने कहा कि रक्षाबंधन और स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए पुलिस अतिरिक्त सतर्कता बरत रही है। उन्होंने आगे कहा, ‘‘सभी त्योहारों और राष्ट्रीय पर्वों पर पुलिस विशेष इंतजाम करती है। मौजूदा हालात को देखते हुए इस बार नियमित बंदोबस्त के अलावा भी उपाय किए गए हैं।’’

National Hindi News 14 August 2019 LIVE Updates दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

उल्लेखनीय है कि जयपुर के गलता गेट, ईदगाह सहित कुछ इलाकों में सोमवार रात दो समुदायों में तनाव और पत्थरबाजी की घटनाएं हुई थीं। मंगलवार को दिन में हालात सामान्य रहे, लेकिन रात में शहर के गंगापोल इलाके में फिर तनाव हो गया। पथराव की घटना के बाद चारदीवारी और आसपास के 10 थाना क्षेत्रों में पांच दिन के लिए धारा 144 लगा दी गयी। इन थाना क्षेत्रों में मोबाइल और इंटरनेट सेवा सोमवार रात से ही बंद है। पुलिस ने सरकारी काम में बाधा पहुंचाने और पुलिस पर हमला करने के कई मामले दर्ज किए हैं। इसके अलावा उसने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले कुछ लोगों को भी चिह्नित किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App