ताज़ा खबर
 

श्रीलंका से नाव में सवार होकर लक्षद्वीप के लिए निकले ISIS के 15 आतंकी, केरल में हाईअलर्ट घोषित

तटीय विभाग के सूत्रों ने ‘पीटीआई’ को बताया, ‘‘श्रीलंका में हमले की घटना के बाद से हम लोग सतर्क हैं। हमने मछली पकड़ने की नौकाओं और समुद्र में जाने वाले अन्य लोगों को भी किसी संदिग्ध गतिविधि को लेकर सतर्क रहने के लिये कहा है।’’

Author तिरुवनंतपुरम | May 26, 2019 8:11 AM
ISIS आतंकवादी। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर कत्लेआम करने के बाद आईएसआईएस की नजर अब भारत पर है। खुफिया सूत्रों की रिपोर्ट के मुताबिक, आईएसआईएस के 15 आतंकी नाव पर सवार होकर श्रीलंका से लक्षद्वीप के लिए रवाना हो चुके हैं। इस रिपोर्ट के केरल में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है। पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक, तटीय पुलिस थानों और तटीय जिला पुलिस प्रमुखों को सतर्क कर दिया गया है।

23 मई को मिली थी सूचना: पुलिस के एक शीर्ष सूत्र ने ‘पीटीआई’ को बताया, ‘‘इस तरह के अलर्ट आम हैं, लेकिन इस बार हमारे पास संख्या को लेकर खास सूचना है। ऐसी किसी भी संदिग्ध नौका के दिखने की स्थिति में हमने तटीय पुलिस थानों और जिला पुलिस प्रमुखों को सतर्क रहने के लिए कहा है।’’ तटीय पुलिस विभाग ने कहा कि वे 23 मई से ही अलर्ट पर हैं। इसी दिन उन्हें श्रीलंका से सूचना मिली थी।

National Hindi News, 26 May 2019 LIVE Updates: दिनभर की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

NIA की जांच में हुआ खुलासा: तटीय विभाग के सूत्रों ने ‘पीटीआई’ को इसकी पुष्टि करते हुए कहा, ‘‘श्रीलंका में हमले की घटना के बाद से हम लोग सतर्क हैं। हमने मछली पकड़ने की नौकाओं और समुद्र में जाने वाले अन्य लोगों को भी किसी संदिग्ध गतिविधि को लेकर सतर्क रहने के लिये कहा है।’’ श्रीलंका में सिलसिलेवार बम धमाके के बाद केरल हाई अलर्ट पर है। एनआईए की जांच में भी खासकर यह खुलासा हुआ था कि आईएस के आतंकवादी राज्य में हमलों की साजिश रच रहे हैं।

श्रीलंका में 21 अप्रैल को हुए थे बम विस्फोट: खुफिया एजेंसियों का मानना है कि अब भी काफी संख्या में केरलवासी आईएसआईएस के साथ हैं। हाल में इराक और सीरिया से आईएसआईएस का सफाया किया जा चुका है। बता दें कि श्रीलंका में 21 अप्रैल को ईस्टर के मौके पर 8 सिलसिलेवार धमाके हुए थे, जिनमें करीब 250 लोगों की मौत हो गई थी। इस्लामिक स्टेट ने इस घटना की जिम्मेदारी ली थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X