scorecardresearch

हिंदू लड़की के लिए खुद की सर्जरी करवाने वाला था आशिक, पैसे के लिए उगाना चाहता था अफीम

आशिक अहमद ने बताया कि वह अफगानिस्तान जाकर अफीम की खेती करके पैसा कमाना चाहता था जिससे वह प्लास्टिक सर्जरी करवाकर अपनी प्रेमिका से शादी कर सके।

islamic state, isis suspects india, nia isis suspects arrests, nia islamic state terrorists, bengal isis suspect, jihadists, india news, west bengal news, ISIS latest news
आशिक उन 18 लड़कों में से एक है जिन्हें एनआईए ने पिछले साल दिसंबर के बाद आईएस के संपर्क में होने के शक में गिरफ्तार किया था।

आतंकी संगठन आईएस से संबंध रखने के आरोप में पकड़े गए आशिक अहमद का ताजा बयान सामने आया है। उसने बताया कि वह अफगानिस्तान जाकर अफीम की खेती करके पैसा कमाना चाहता था जिससे वह प्लास्टिक सर्जरी करवाकर अपनी प्रेमिका से शादी कर सके। आशिक उन 18 लड़कों में से एक है जिन्हें एनआईए ने पिछले साल दिसंबर के बाद आईएस के संपर्क में होने के शक में गिरफ्तार किया था।

पश्चिम बंगाल के हुगली में रहने वाले 19 साल के आशिक उर्फ राजा ने बताया कि वह एक हिंदू लड़की को प्यार करता था पर वह उसके धर्म की वजह से उससे शादी नहीं करना चाहती थी।

आशिक ने कहा, ‘जब मैं 11 क्लास में पढ़ता था तब एक लड़की से मुझे प्यार था। मेरा एक दोस्त भी उससे प्यार करता था। उसने उस लड़की को प्रपोज भी किया था जिसकी वजह से मेरी और उसकी लड़ाई भी हुई थी। फिर मेरे उसी दोस्त ने सारी बात लड़की के घरवालों को बता दी। उसके पापा ने मेरे घरपर आकर झगड़ा किया। इसके बाद उस लड़की ने भी मुझसे रिश्ता तोड़ लिया और बात करनी बंद कर दी।’

Read Also: आगरा: हिंदू-मुस्लिम प्रेमी जोड़े ने किया आत्‍मदाह, ससुराल से लौटकर प्रेमी के पास पहुंची थी लड़की

आशिक बताता है कि इसके बाद उसने सोचा कि वह पैसा कमाकर प्लास्टिक सर्जरी करवाकर अपना नाम और धर्म बदलकर लड़की के घरवालों के पास जाएगा। इसके लिए उसने फेसबुक पर अफगानिस्तान के शख्स से बात की। उस शख्स ने आशिक को बताया था कि पाकिस्तान और ईरान को वे लोग दुश्मन मानते हैं। वह जैश ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर के भाषण भी सुना करता था।

Read Also: हिंदू गर्लफ्रेंड से हुआ ब्रेकअप तो बना जिहादी, ISIS का भरोसा जीतने के लिए उड़ाना चाहता था मंदिर

आशिक ने आगे बताया कि वह ‘ट्रिलियन’ नाम का एक सोशल ऐप इस्तेमाल करता था और उसी पर अहमद अली नाम के एक शख्स ने उसे संपर्क किया था। अहमद ने आशिक को बताया था कि वह ‘अनसर-उत ताविद फी बिलाद अल-हिंद’ के नाम के एक संगठन का मुखिया है।

आशिक की इन सब हरकतों पर एनआईए ने नजर रखी हुई थी और फिर उसे 24 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया गया था।

पढें पश्चिम बंगाल (Westbengalelections2016 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट