ताज़ा खबर
 

MP: हनीप्रीत को लेकर कैदी ने किया ऐसा कमेंट, भड़के साथी ने कर दिया हमला, हुई कार्रवाई

अदालत ने आरोपी मुकेश रायकवार (26) को भारतीय दंड संहिता की धारा 324 के तहत एक साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई। उन्होंने कहा कि यह घटना 27 सितम्बर 2017 को तब हुई जब सागर की केंद्रीय जेल में बंद दोनों कैदी टीवी देख रहे थे।

Author सागर | Published on: July 14, 2019 6:01 AM
राम रहीम के साथ हनीप्रीत (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश के सागर की एक स्थानीय अदालत ने एक कैदी को हनीप्रीत इंसां पर टिप्पणी पर जेल में बंद अपने साथी कैदी से मारपीट करने के लिए एक साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। हनीप्रीत जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की शिष्या है और स्वयं भी जेल में बंद है। जिला अभियोजन के मीडिया प्रभारी ब्रजेश दीक्षित ने कहा कि सागर के प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट करनाल सिंह श्याम ने शुक्रवार (12 जुलाई) को इस मामले में फैसला सुनाया।

धारा 324के तहत सुनाई सजाः दीक्षित ने कहा कि अदालत ने आरोपी मुकेश रायकवार (26) को भारतीय दंड संहिता की धारा 324 के तहत एक साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई। उन्होंने कहा कि यह घटना 27 सितम्बर 2017 को तब हुई जब सागर की केंद्रीय जेल में बंद दोनों कैदी टीवी देख रहे थे और उस समय हनीप्रीती इंसां और गुरमीत राम रहीम सिंह पर एक समाचार चैनल टीवी खबर चल रही थी। उसी दौरान रायकवार ने अपने साथी कैदी प्रताप राजपूत पर टिन की डस्टबीन से हमला कर दिया था।

राजपूत ने दिया था ये बयानः दीक्षित ने कहा कि टीवी पर समाचार देखने के बाद राजपूत ने कहा था कि इंसां को अपने कुकर्मों की कीमत चुकानी पड़ेगी। राजपूत की इस टिप्पणी को पर दोनों कैदियों में विवाद हो गया और रायकवार ने राजपूत पर हमला कर किया। जेल प्रशासन की शिकायत पर गोपालगंज पुलिस थाने में रायकवार के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

बता दें कि हरियाणा के सिरसा का रहने वाला बलात्कारी और हत्यारे गुरमीत राम रहीम सिंह इंसां सिर झुका ही रहता है। राम रहीम की ही एक शिष्या हनीप्रीत भी थी, इसे लेकर जमकर बवाल हुआ था। कुछ लोगों न उसके साथ-साथ रहने और जेल जाने पर भी सवाल उठाए थे। राम रहीम को रोहतक की सुनारिया तक दिखाई देता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Goa: 10 कांग्रेस विधायकों को BJP में मिलाने पर बवाल, डिप्टी CM बोले- आज दूसरी बार हुई पर्रिकर की मौत, खत्म कर दी उनकी परंपरा
2 वरिष्ठ नेताओं ने खोला शीला दीक्षित के खिलाफ मोर्चा
3 केजरीवाल ने कहा, देरी के लिए दोषारोपण नहीं, मेट्रो के लिए दिल्ली सरकार ने मांगा केंद्र का सहयोग