ताज़ा खबर
 

Chandigarh Airport: इंडिगो को नहीं मिला पायलट? फ्लाइट में सवार यात्रियों से कहा- ‘उतर जाइये’

इंडिगो ने सभी यात्रियों को बुकिंग राशि लौटा दी लेकिन उन्हें दिल्ली तक जाने के लिए खुद ही दूसरी व्यवस्था करनी पड़ी। इस बीच एयरलाइन और एयरपोर्ट अथॉरिटी की तरफ से फ्लाइट कैंसिल होने की कई वजहें बताई गईं।

Author चंडीगढ़ | July 4, 2019 2:31 AM
इंडिगो एयरलाइंस (फाइल फोटो- फाइनेंशियल एक्सप्रेस)

चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर बुधवार (3 जुलाई) को अजीबोगरीब स्थिति बन गई। यहां इंडिगो के विमान में सवार 180 यात्रियों से 45 मिनट के इंतजार के बाद उड़ान भरने के समय से ठीक पहले उतर जाने को कह दिया गया। कंपनी ने सुबह 7:55 बजे उड़ान भरने वाली फ्लाइट को कथित तौर पर पायलट उपलब्ध न होने की वजह से कैंसिल कर दिया। हिंदुस्तान टाइम्स ने सूत्रों के हवाले से पायलट न होने की वजह से उड़ान रद्द किए जाने की पुष्टि भी की है। इस गड़बड़ी के चलते यात्री परेशान होते रहे।

वेटिंग एरिया में परेशान होते रहे यात्री, 10:30 बजे लौटाया सामानः रिपोर्ट के मुताबिक 43 वर्षीय कारोबारी गुंडीप चावला को एक कनेक्टिंग फ्लाइट के जरिये नागपुर में एक पारिवारिक शादी समारोह में जाना था, वे भी इंडिगो एयरलाइंस के इस कदम के चलते एयरपोर्ट पर वेटिंग एरिया में परेशान हो रहे थे। उन्होंने कहा, ‘सुबह करीब 9:30 बजे हमें पता चला कि एयरलाइन कंपनी पायलट की व्यवस्था नहीं कर पाई, यह बेहद चौंकाने वाला था।’ इसी तरह छुट्टियों में गोवा जाने के लिए निकले 42 साल के अंकुर पुरी ने कहा कि फ्लाइट कैंसिल होने के बाद हमें 10:30 बजे सामान भी लौटा दिया गया।

इंडिगों ने लौटाई बुकिंग राशि, खुद करनी पड़ी दिल्ली जाने की व्यवस्थाः बता दें कि इस घटनाक्रम के बाद इंडिगो ने सभी यात्रियों को बुकिंग राशि लौटा दी लेकिन उन्हें दिल्ली तक जाने के लिए खुद ही दूसरी व्यवस्था करनी पड़ी। इस बीच एयरलाइन और एयरपोर्ट अथॉरिटी की तरफ से फ्लाइट कैंसिल होने की कई वजहें बताई गईं। वहीं रिपोर्ट के मुताबिक इंडिगो के प्रतिनिधि ने यात्रियों से कहा कि पायलट के उड़ान भरने के लिए निर्धारित घंटे पूरे हो चुके थे और बारिश की वजह से कुछ पायलट दिल्ली में ही फंस गए थे। चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के प्रवक्ता प्रिंस दिलदार ने कहा, ‘फ्लाइट ऑपरेटर ने इसके पीछे ऑपरेशनल कारणों को जिम्मेदार बताया।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App