ताज़ा खबर
 

Indian Railway: कालका-शिमला मार्ग पर चली पारदर्शी छत वाली विस्टाडोम ट्रेन

रेलवे के मुताबिक सर्दियों की छुट्टियों और नववर्ष के जश्न के कारण अगले कुछ दिनों तक सभी सीटें बुक हैं। रेलवे ने इस साल की शुरुआत में एक विस्टाडोम बोगी लगाई थी। लोगों को पसंद आने के कारण अब पूरी ट्रेन में विस्टाडोम बोगियां लगाई गई हैं।

यात्री पारदर्शी छत वाली बोगियों से बर्फ और बारिश वाले बाहर के मनोहर नजारे का आनंद उठा सकेंगे।

भारतीय रेलवे ने विश्व धरोहर में शामिल कालका-शिमला मार्ग पर पारदर्शी छत वाली सात बोगियों की विस्टाडोम ट्रेन (पारदर्शी छत वाले डिब्बे) बुधवार को शुरू कर दी। रेलवे के मुताबिक बुधवार को गुब्बारों व क्रिसमस के लाल रंग की यह ट्रेन हरियाणा के कालका स्टेशन से सुबह करीब सात बजे रवाना हुई।
ट्रेन को हिम दर्शन के तहत शुरू किया गया है। इसमें 100 से अधिक यात्रियों के बैठने की क्षमता है।

रेलवे के मुताबिक सर्दियों की छुट्टियों और नववर्ष के जश्न के कारण अगले कुछ दिनों तक सभी सीटें बुक हैं। रेलवे ने इस साल की शुरुआत में एक विस्टाडोम बोगी लगाई थी। लोगों को पसंद आने के कारण अब पूरी ट्रेन में विस्टाडोम बोगियां लगाई गई हैं। यात्री पारदर्शी छत वाली बोगियों से बर्फ और बारिश वाले बाहर के मनोहर नजारे का आनंद उठा सकेंगे।

यात्री आरक्षण प्रणाली (पीआरएस) और अन्य ऑनलाइन सेवाओं का इस्तेमाल कर सीट की बुकिंग करा सकते हैं। व्यक्तिगत सीट चार्टर सेवा की परिकल्पना पर आधारित यह विस्टाडोम कोच वाली पहली भारतीय ट्रेन है। यह ट्रेन कालका स्टेशन से सुबह 7:00 बजे रवाना होगी और 12:55 बजे शिमला पहुंचेगी। इसी प्रकार वापसी में यह ट्रेन शिमला से दोहपर 15:50 बजे चलेगी और रात्रि 21:15 बजे कालका पहुंचेगी।

यह ट्रेन दोनों दिशाओं में बड़ोग रेलवे स्टेशन पर ठहरेगी। इस ट्रेन में कुल सात कोच होंगे। इसमें छह प्रथम श्रेणी एसी विस्टाडोम कोच और एक प्रथम श्रेणी कोच होगा।  प्रत्येक कोच में 15 व्यक्तियों के बैठने की क्षमता होगी और प्रथम श्रेणी कोच में 14 यात्रियों के बैठने की क्षमता होगी। प्रति यात्री शुल्क 630 रुपए होगा। इस कोच में टिकट बुकिंग पर किसी छूट का कोई प्रावधान नहीं होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X