ताज़ा खबर
 

Indian Railway, IRCTC: 12 सितंबर से चलाई जाने वाली भागलपुर विक्रमशिला ट्रेन में टिकटों का टोटा, बुकिंग खुलते ही 26 सितंबर तक एसी कोच में टिकटें बुक

Indian Railway, IRCTC: मालदा रेलवे डिवीजन के डीआरएम यतेंद्र कुमार के मुताबिक विक्रमशिला ट्रेन में सफर करने वाले यात्री सामान्य कोच में भी आरक्षण कराकर ही सवार हो सकेंगे।

railwayरेलवे स्टेशन पर खड़े यात्री। Vishal Srivastav/ The Indian Express

Indian Railway, IRCTC: शनिवार 12 सितंबर से चलाई जाने वाली 0267 भागलपुर-आनंदविहार विक्रमशिला ट्रेन का आरक्षण अगली 26 सितंबर तक के लिए कुछ ही घंटों में आरक्षित हो गया। स्लीपर डब्बों में तो 7 अक्तूबर तक आरक्षण उपलब्ध नहीं है। यही हाल शुक्रवार को तत्काल टिकट का है। तत्काल टिकट तो यात्रा के एक दिन पहले आरक्षित होता है। वह भी सुबह थोड़ी देर में ही ख़त्म हो गया। कोरोना की वजह से 22 मार्च से बंद हुई ट्रेनों में से भागलपुर स्टेशन से रवाना होने वाली यह पहली ट्रेन है।

यात्रा के इंतजार में कई महीनों से बैठे लोगों के लिए दिल्ली जाने वाली विक्रमशिला ट्रेन उम्मीदों की किरण लेकर आई है। खासकर 13 सितंबर को आयोजित मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट के छात्रों को तो बड़ी राहत मिली है। ज्यादातर टिकटें पटना के लिए बुक हुई है। टिकट आरक्षण के लिए अफरातफरी का माहौल देखा गया।

मालदा रेलवे डिवीजन के डीआरएम यतेंद्र कुमार के मुताबिक विक्रमशिला ट्रेन में सफर करने वाले यात्री सामान्य कोच में भी आरक्षण कराकर ही सवार हो सकेंगे। मसलन बगैर आरक्षण वाले यात्रियों को यात्रा नहीं करने दिया जाएगा। ट्रेन रवाना होने के 90 मिनट पहले आरक्षित टिकट वाले यात्रियों को स्टेशन पहुंचना होगा। कोविड-19 के बचाव के नियमों का पालन करना होगा। कंफर्म टिकट वालों को ही स्टेशन में प्रवेश करने दिया जाएगा। इसके लिए आरपीएफ को तैनात रहने की हिदायत दी गई है।

उन्होंने बताया कि ट्रेन की पेंट्री कार से केवल फास्ट फूड की ही आपूर्ति का इंतजाम है। मुसाफिरों को घर से खाना लाना होगा। वातानुकूलित डब्बे के यात्रियों को भी चादर-तकिया का खुद ही इंतजाम करना होगा। डीआरएम बताते है कि विक्रमशिला ट्रेन में वातानुकूलित-1 में 10, टू में 80, थ्री में 288, स्लीपर में 880 और सामान्य श्रेणी में 198 मसलन कुल 1456 मुसाफिरों की यात्रा के लिए बर्थ है। विक्रमशिला ट्रेन 12 सितंबर से देश के विभिन्न स्टेशनों से चलने वाली 40 जोड़ी ट्रेनों में से एक है।

इधर ईस्टर्न बिहार चेंबर आफ कामर्स ऐंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष अशोक भिवानीवाला ने भागलपुर-हावड़ा, भागलपुर-पटना, भागलपुर से बेंगलुरु, सूरत, रांची, मालदा के लिए पत्र लिख ट्रेन चलाने की मांग रेलमंत्री से की है। डीआरएम कुमार के मुताबिक और ट्रेनों के चलाने का प्रस्ताव पहले भी भेजा गया था। अब दोबारा से फिर भेजा गया है। रेलवे बोर्ड के हरी झंडी की प्रतीक्षा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bihar Elections 2020 से पहले जेल से बाहर होंगे लालू यादव? चारा घोटाले में आज नहीं हुआ बेल पर फैसला, 9 अक्टूबर को अगली सुनवाई
2 वाराणसीः BJP से जुड़े वकील ने लगाया पोस्टर, उद्धव ठाकरे को बताया दुशासन, कंगना को द्रौपदी और PM मोदी को दर्शाया कृष्ण
3 MP By-Elections: कांग्रेस की कैंडिडेट लिस्ट जारी, देखें 15 सीटों पर कहां से उतारा कौन सा उम्मीदवार
यह पढ़ा क्या?
X