Indian Railway, IRCTC: नशे में ड्यूटी कर रहा था टीटीई, कई तो कर ही नहीं रहे थे, अफसर ने जासूस बन पकड़ा

Indian Railway IRCTC के एक अधिकारी ने जासूस बनकर रेलवे स्टेशन के चक्कर लगाए तो सच्चाई जानकर हैरान रह गए, कुछ रेलवे कर्मी सिर्फ कागजों पर ड्यूटी कर रहे थे तो कुछ नशे में धुत होकर दफ्तर चले आए थे।

Indian Railway IRCTC
Indian Railway IRCTC के कई कर्मी ड्यूटी के दौरान लापरवाही करते हुए नजर आए। (फाइल फोटो)- Source- Indian Express

Indian Railways IRCTC की हेल्पलाइन और आधिकारिक वेबसाइट ‘रेलमदद’ पर लगातार कई शिकायतें मिल रही थी। इन शिकायतों की सच्चाई जानने के लिए सीनियर डिवीजन कमर्शियल मैनेजर प्रवीण कुमार ने एक साधारण यात्री का भेष धारण करके स्टेशन के चक्कर लगाए। उन्होंने अपने पास एक ट्रैवल बैग रखा साथ ही वेश-भूषा भी इस तरह की अपनाई ताकि अधिकारी के बजाय एक सामान्य यात्री लगें। इसके बाद उन्होंने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर कई चक्कर लगाए और रेलवे (Indian Railways IRCTC) के कई कर्मियों को ड्यूटी के दौरान अनियमितताओं का दोषी पाया।

एक यात्री के रूप में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर चहलकदमी के दौरान सीनियर ऑफिसर ने देखा कि कई कर्मचारी ड्यूटी के दौरान गायब थे लेकिन ड्यूटी चार्ट के अनुसार वह काम कर रहे थे, कुछ रेलवे कर्मी नशे में धुत भी देखे गए तो वहीं उन्होंने नोटिस किया कि यात्रियों से उन जगहों पर जाकर उगाही की जा रही जो CCTV कैमरे की जद से बाहर है। उन्होंने कई कर्मचारियों की यूनिफॉर्म पर नेम प्लेट गायब देखी।

प्रवीण कुमार ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए बताया कि निरीक्षण के दौरान दो चीजें साफ हुई, पहली यह कि कई TTE ड्यूटी पर तो थे लेकिन उन्होंने अपनी नेम प्लेट नहीं लगाई थी। ऐसी स्थिति में यात्रियों के लिए शिकायत करना मुश्किल हो जाता है। दूसरी चीज यह भी साफ हुई कि TTE यात्रियों को पकड़ने के बाद ऐसी जगहों पर ले जाते हैं जो CCTV कैमरे की रेंज से बाहर होते हैं।

उन्होंने बताया कि राउंड के दौरान मैं ऐसी कई सामान्य जगहों पर गया जहां यात्री अधिकारियों बात करते हैं या TTE के संपर्क में आते हैं। यहां मैने देखा कि कई लोग ड्यूटी से नदारद थे लेकिन ड्यूटी चार्ट के अनुसार तो वह काम कर रहे हैं। वहीं एक टीटीई तो शराब के नशे में धुत भी मिला, उन्होंने बताया कि उस कर्मी को मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है। कुमार के अनुसार कुल 17 TTE को पकड़ा गया, उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा रही है।

अधिकारियों के इस कदम की रेलवे मंत्रालय ने भी तारीफ की है, साथ ही अन्य डिवीजन के अधिकारियों से भी सक्रिय होने के लिए कहा गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दो सदस्यीय कमेटी बनाकर दिल्ली के चारों स्टेशनों नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली, निजामुद्दीन और आनंद विहार में ऐसे ब्लाइंड स्पॉट तलाशने के लिए कहा गया है, जहां यात्रियों से रिश्वत ली जाती है।

दिल्ली डिवीजन के रेलवे मैनेजर डिंपी गर्ग ने बताया कि इस तरह और कदम भी उठाए जाएंगे साथ ही उन यात्रियों से संपर्क करने की कोशिश की जा रही है जिन्होंने शिकायत दर्ज कराई हैं। 

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट