Indian ISIS terrorist killed in Syria Kerala police confirmed the report after his family got message - आईएसआईएस के लिए लड़ने सीरिया गया था, मारा गया अब्‍दुल मनाफ, वतन की मिट्टी तक नसीब नहीं हुई - Jansatta
ताज़ा खबर
 

आईएसआईएस के लिए लड़ने सीरिया गया था, मारा गया अब्‍दुल मनाफ, वतन की मिट्टी तक नसीब नहीं हुई

आईएसआाईएस आतंकी मनाफ के मारे जाने की खबर सबसे पहले पीएफआई के सदस्‍यों को टेलीग्राम के जरिये मिली थी। केरल कन्‍नूर जिले से 15 लोगों के आतंकी संगठन में शामिल होने की बात सामने आ चुकी है।

Author नई दिल्‍ली | January 19, 2018 1:03 PM
केरल से कई लोगों के आईएस में शामिल होने की पुष्टि हो चुकी है। (Photo: AP)

सीरिया में इस्‍लामकि स्‍टेट (आईएसआईएस या आईएस) का एक भारतीय आतंकी मारा गया है। केरल पुलिस ने इसकी पुष्टि की है। आतंकी की पहचान अब्‍दुल मनाफ (27) के तौर पर की गई है। मारे गए आतंकी को वतन की मिट्टी तक नसीब नहीं हुई। वह दो साल पहले आईएस की ओर से लड़ने के लिए परिवार समेत सीरिया गया था। मनाफ कन्‍नूर जिले के वलापट्टनम का रहने वाला था। उसके परिवार को इसकी खबर मिल चुकी है। कन्‍नूर के डीएसपी सदानंदन ने बताया कि मनाफ पिछले साल नवंबर में मारा गया था। सीरिया में अमेरिका और रूस समर्थित सुरक्षाबल आईएस को खदेड़ने में जुटे हैं। पिछले कुछ महीनों में आईएस को सीरिया के कई इलाकों से खदेड़ा जा चुका है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि दो दिनों पहले पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के सदस्‍यों के पास टेलीग्राम के जरिये अब्‍दुल खय्यूम का मैसेज आया था। इसमें मनाफ के मारे जाने की बात कही गई थी। अब्‍दुल खय्यूम आईएस में शामिल होने के लिए मनाफ के साथ सीरिया गया था। मनाफ पीएफआई की राजनीतिक शाखा एसडीपीआई का सक्रिय सदस्‍य रह चुका था। वह माकपा कार्यकर्ता की हत्‍या करने के मामले में भी आरोपी था। आईएस आतंकी फर्जी पासपोर्ट के सहारे पत्‍नी और दो बच्‍चों के साथ सीरिया भागने में सफल रहा था। उसका निकट सहयोगी शाहजहां को वर्ष 2017 में नई दिल्‍ली से गिरफ्तार किया गया था। उसे तुर्की ने भारत को प्रत्‍यर्पित किया था। शाहजहां को सीरिया भागने के दौरान दबोचा गया था।

केरल पुलिस ने पिछले साल नवंबर में पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। इससे मिली जानकारी के आधार पर पांच लोगों के आईएस में शामिल होने की पुष्टि की गई थी। इनके खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम कानून (यूएपीए) के तहत मामला भी दर्ज किया गया था। सीरिया में पांच अन्‍य भारतीय आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि पहले ही की जा चुकी है। इस मामले की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी एनआईए कर रही है। सिर्फ कन्‍नूर जिले से 15 लोगों के तार आईएस से जुड़े होने की बात सामने आ चुकी है। इसके अलावा कासरगोड़ से भी कई लोगों के सीरिया जाने की पुष्टि की गई है। केरल से लोगों के आईएस में शामिल होने की बढ़ती घटनाओं के बाद सुरक्षा एजेंसियों ने चौकसी बढ़ा दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App