ताज़ा खबर
 

सेना प्रमुख की पाकिस्तान को नसीहत- शांति चाहते हो तो आतंकी भेजना बंद करो

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने आज कहा कि जम्मू कश्मीर में सेना की ओर से रोके गए अभियान की अवधि बढ़ाई जा सकती है लेकिन आतंकवादियों की किसी भी हरकत पर इस पर तुरंत फिर से विचार करना होगा।

Author पहलगाम | May 25, 2018 6:57 PM
आर्मी चीफ बिपिन रावत

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने आज कहा कि जम्मू कश्मीर में सेना की ओर से रोके गए अभियान की अवधि बढ़ाई जा सकती है लेकिन आतंकवादियों की किसी भी हरकत पर इस पर तुरंत फिर से विचार करना होगा। रावत ने यह भी कहा कि पाकिस्तान अगर शांति बनाये रखना चाहता है तो उसे राज्य में आतंकियों को भेजना बंद करना चाहिए।
श्रीनगर से 95 किलोमीटर दूर पहलगाम में एक कार्यक्रम में जनरल रावत ने संवाददाताओं से कहा , ‘‘ अगर पाकिस्तान वाकई शांति चाहता है तो हम चाहते हैं कि वह सबसे पहले अपनी तरफ से आतंकवादियों की घुसपैठ कराना बंद करे। संघर्षविराम का उल्लंघन ज्यादातर घुसपैठ को मदद करने के लिए ही किया जाता है। ’’ सेना प्रमुख ने कहा कि भारत सीमा पर शांति चाहता है लेकिन पाकिस्तान ने लगातार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है जिससे जान – माल का नुकसान हुआ है ।

उन्होंने कहा , ‘‘ जब ऐसी हरकत होती है तो हमें भी जवाब देना पड़ता है। हम चुप नहीं बैठक सकते। अगर संघर्षविराम का उल्लंघन होगा तो हमारी तरफ से कार्रवाई की जाएगी। ’’ जनरल रावत ने कहा कि शांति के लिए जरूरी है कि सीमा पार से आतंकवाद का खात्मा हो। सेना प्रमुख ने कहा कि जम्मू कश्मीर में आतंकवाद रोधी अभियान रोकने की पहल का मकसद है कि लोगों को शांति का फायदा मिले।

उन्होंने कहा , ‘‘ अगर शांति का यह माहौल कायम रहा तो मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि हम एनआईसीओ (अभियान की शुरूआत नहीं) को जारी रखने के बारे में विचार करेंगे। लेकिन , आतंकवादियों ने कोई हरकत की तो हमें इस संघर्षविराम या अभियान रोकने या एनआईसीओ पर फिर से सोचना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App