ताज़ा खबर
 

ED ने ललित मोदी मामले में विदेश मंत्रालय से कार्रवाई करने को कहा

भारत का ब्रिटेन से आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी को प्रत्यर्पित करने के लिए कहा जाना तय है। ललित मोदी पर धन शोधन का मामला चल रहा है। प्रवर्तन निदेशालय ने इस संबंध में विदेश मंत्रालय से कार्रवाई करने को कहा है।

Author नई दिल्ली | Published on: May 27, 2016 2:41 AM
आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी

भारत का ब्रिटेन से आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी को प्रत्यर्पित करने के लिए कहा जाना तय है। ललित मोदी पर धन शोधन का मामला चल रहा है। प्रवर्तन निदेशालय ने इस संबंध में विदेश मंत्रालय से कार्रवाई करने को कहा है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा- प्रवर्तन निदेशालय ने हमें प्रत्यर्पण अनुरोध भेजा है। इस पर अभी कानूनी विशेषज्ञ विचार कर रहे हैं।

इसकी जरूरत को लेकर निश्चिंत होने पर इसे विचार के लिए ब्रिटिश पक्ष के पास भेजा जाएगा। प्रवर्तन निदेशालय चाहता है कि ललित मोदी टी-20 क्रिकेट इंडियन प्रीमियर लीग प्रतियोगिता से संबंधित मामले में जांच में शामिल हो। मोदी और अन्य के खिलाफ धन शोधन निरोधक कानून के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

मुंबई की एक अदालत ने दो महीने पहले एक आदेश जारी कर ईडी को मोदी के खिलाफ प्रत्यर्पण कार्यवाही शुरू करने की अनुमति दी थी। यह अनुमति उसके और अन्य के खिलाफ धन शोधन जांच मामले में दी गई थी। पिछले साल एजंसी ने इंटरपोल से संपर्क कर मोदी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी करने को कहा था लेकिन इस अंतरराष्ट्रीय पुलिस निकाय ने इस संबंध में अभी तक उनकी इस अपील को मंजूरी नहीं दी है।

इंटरपोल अधिकारियों ने मोदी के खिलाफ धन शोधन मामले में ईडी जांचकर्ताओं से बार-बार अतिरिक्त सूचनाएं मांगी हैं। ये सूचनाएं उसके खिलाफ विश्व व्यापी वारंट जारी करने की प्रक्रिया के तहत मांगी गईं। ईडी ने मोदी, आईपीएल और उसके अधिकारियों के खिलाफ धन शोधन निरोधक कानूनों के कथित उल्लंघन के आरोप में 2012 में आपराधिक प्राथमिकी दर्ज करने के बाद जांच शुरू की थी। प्राथमिकी तब दर्ज की गई जब इस केंद्रीय एजंसी ने बीसीसीआइ के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन की ओर से मोदी व आधा दर्जन अन्य लोगों के खिलाफ चेन्नई पुलिस को की गई शिकायत पर संज्ञान लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्‍या!
X