ताज़ा खबर
 

IAF Strike: जैश-ए-मोहम्मद का सबसे बड़ा आतंकी ठिकाना तबाह, विदेश मंत्रालय ने की पुष्टि

विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर की गई एयर स्ट्राइक की जानकारी दी।

फॉरेन सेक्रेटरी वी के गोखले, फोटो सोर्स- ANI

विदेश मंत्रालय ने सोमवार देर रात जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर हुए हमले की पुष्टि की है। विदेश सचिव वीके गोखले ने बताया कि जैश के आतंकी दोबारा फिदायीन हमला करने की तैयारी में थे। इसके चलते उन्हें ढेर कर दिया गया। उन्होंने जानकारी दी कि आतंकियों की हरकत के बारे में खुफिया एजेंसियों से रिपोर्ट मिली थी। फॉरेन सेक्रेटरी वीके गोखले ने कहा कि पुलवामा हमला जैश के आतंकियों ने करवाया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में जैश 20 साल से एक्टिव है। यह एक गैर सैन्य प्री-एम्वटिव ऑपरेशन था, जिसका टारगेट जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी ठिकाना था।

जैश के कई आतंकी हुए ढेर: विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि पाकिस्तान में 20 साल से जैश एक्टिव था। उसने ही भारतीय संसद पर हमला भी किया था। वहीं पुलवामा में हुआ आतंकी हमला भी उन्होंने ही किया था। ऐसे में भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में बड़ी कार्रवाई की है। इस कार्रवाई में जैश ए मोहम्मद के कई आतंकी और कमांडर मारे गए हैं। इसके साथ ही गोखले ने बताया कि इस ऑपरेशन में पूरी सावधान बरती गई कि किसी भी नागरिक को नुकसान न हो।

जानकारी मिलने के बाद किया हमला: फॉरेन सेक्रेटरी वी के गोखले ने कहा कि पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों को पनाह मिली हुई है। हमें खुफिया जानकारी मिली थी कि जैश-ए-मोहम्मद भारत के विभिन्न हिस्सों में आतंकी हमले की प्लानिंग कर रहा था। जिसके बाद हमने ये प्री-एम्वटिव ऑपरेशन किया गया।

अजहर का बहनोई चलाता था ये आतंकी कैंप: विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि आज तड़के भारतीय वायुसेना ने जैश-ए-मोहम्मद के बालाकोट ट्रेनिंग कैंप पर प्री-एम्वटिव ऑपरेशन किया । इस  प्रिवेंटिव ऑपरेशन में जैश के कई आतंकवादी, ट्रेनर्स और सीनियर कमांडर मारे गए। बता दें कि इस ट्रेनिंग कैंप को जैश-ए- मोहम्मद का चीफ मसूद अजहर का बहनोई मौलाना युसुफ चलाता था।

 


Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App