ताज़ा खबर
 

अर्जुन अवॉर्ड विजेता टेबल टेनिस खिलाड़ी पर रेप का आरोप, 18 साल की पीड़िता ने लगाए संगीन आरोप

पश्चिम बंगाल में एक युवती ने टेबल टेनिस प्लेयर सौम्यजीत घोष पर जबरन गर्भपात कराने का भी आरोप लगाया है। सौम्यजीत वर्ष 2012 और 2016 के ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

पीड़िता ने बारासात महिला थाने में सौम्यजीत घोष के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।

पश्चिम बंगाल में रेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है। एक 18 साल की युवती ने अर्जुन अवॉर्ड विजेता टेबल टेनिस खिलाड़ी सौम्यजीत घोष पर बलात्कार का आरोप लगाया है। पीड़िता का आरोप है कि वह पिछले तीन वर्षों से सौम्यजीत के साथ रिलेशनशिप में थी। युवती ने कहा, ‘हमलोग वर्ष 2015 से ही रिलेशनशिप में थे, जिस दौरान उसने (सौम्यजीत) मेरे साथ बलात्कार किया। उसने मुझसे शादी करने का वादा किया था, लेकिन बाद में अपनी बात से मुकर गया था।’ पीड़िता ने बुधवार (21 मार्च) को बारासात (उत्तरी 24 परगना जिला) महिला थाने में टेबल टेनिस खिलाड़ी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। सौम्यजीत ने वर्ष 2012 और 2016 के ओलंपिक में भारतीय टेबल टेनिस टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। सौम्यजीत घोष (24) टेबल टेनिस के सबसे कम उम्र के राष्ट्रीय चैंपियन भी रह चुके हैं।

सोशल मीडिया से आए थे संपर्क में: रिपोर्ट के अनुसार, सौम्यजीत और युवती वर्ष 2014 में सोशल मीडिया के जरिये एक-दूसरे के संपर्क में आए थे। ऑनलाइन मुलाकात के कुछ दिनों बाद दोनों रिलेशनशिप में आ गए थे। पीड़िता का आरोप है कि उसने सौम्यजीत के कोलकाता स्थित फ्लैट और सिलीगुड़ी में भी स्टार खिलाड़ी से मुलाकात की थी। टेबल टेनिस खिलाड़ी मूल रूप से सिलीगुड़ी के ही रहने वाले हैं।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 15390 MRP ₹ 17990 -14%
    ₹0 Cashback
  • Jivi Energy E12 8 GB (White)
    ₹ 2799 MRP ₹ 4899 -43%
    ₹0 Cashback

जबरन कराया गर्भपात: युवती ने सौम्यजीत पर बलात्कार के अलावा जबरन गर्भपात कराने का संगीन आरोप भी लगाया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दोनों ने उत्तरी बंगाल के एक मंदिर में शादी भी की थी। बारासात के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिजित बनर्जी ने पीड़िता द्वारा सौम्यजीत के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा, ‘पुलिस को टेबल टेनिस खिलाड़ी सौम्यजीत घोष के खिलाफ शिकायत मिली है। मामले की जांच शुरू कर दी गई है। फिलहाज इसका ब्योरा सार्वजनिक नहीं किया जा सकता है।’

इस घटना के सामने आने के बाद सोशल मीडिया में लोगों ने कई तरह की प्रतिक्रियाएं दी हैं। कुछ ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सरकार पर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए हैं। साथ ही ऐसे आरोपों पर भी तीखी टिप्पणी की है। सौरव चटर्जी ने ट्वीट किया, ‘महिला सुरक्षा के मामले में पश्चिम बंगाल की स्थिति बेहद खराब है।’ एक अन्य व्यक्ति ने लिखा, ‘जब रिलेशनशिप शादी में तब्दील न हो तो व्यक्ति पर रेप का आरोप लगा दें?’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App