ताज़ा खबर
 

तमिलनाडु: महिला प्रोफेसर पर आरोप- कॉलेज अधिकारियों को ‘खुश’ करने के लिए छात्राओं को उकसाया

तमिलनाडु के मदुरै कामराज विश्‍वविद्यालय से मान्‍यता प्राप्‍त एक निजी कॉलेज में गणित पढ़ाने वाली महिला असिस्‍टेंट प्रोफेसर निर्मला देवी का ऑडियो टेप लीक हुआ है। इसमें वह पढ़ाई में अच्‍छी प्रगति के लिए एक बहुत ही वरिष्‍ठ अधिकारी के लिए कुछ 'तय चीजें' करने के लिए चार छात्राओं को उकसा रही हैं।

मदुरै कामराज यूनिवर्सिटी। (फोटो सोर्स: एमकेयू ऑनलाइन)

तमिलनाडु में एक महिला असिस्‍टेंट प्रोफेसर पर सनसनीखेज आरोप लगा है। सोशल मीडिया में विरुद्धनगर जिले में स्थित एक निजी कॉलेज में गणित की प्रोफेसर निर्मला देवी का एक ऑडियो टेप वायरल हुआ है, जिसमें वह छात्रओं से अच्‍छा अंक लाने के लिए उच्‍चाधिकारी को ‘खुश करने’ की बात कह रही हैं। इसके सामने आने के बाद राज्‍य का राजनीतिक पारा भी चढ़ गया है। मामले के संज्ञान में आने के बाद कॉलेज प्रबंधन ने जांच के आदेश दिए हैं। हालांकि, इसको लेकर पुलिस में शिकायत नहीं दी गई है। ‘टाइम्‍स नाउ’ चैनल के अनुसार, सोशल मीडिया में वायरल ऑडियो क्लिप के आधार पर पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। महिला कथित तौर अच्‍छे अंक पाने के लिए उच्‍चाधिकारी को संतुष्‍ट करने के लिए उकसा रही हैं। प्रोफेसर ने हालांकि किसी अधिकारी का नाम नहीं लिया है, लेकिन राज्‍य के शीर्ष अधिकारियों से उनके संबंध होने के संकेत मिले हैं। कॉलेज प्रबंधन ने महिला असिस्‍टेंट प्रोफेसर को मार्च में ही तत्‍काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था। यह ऑडियो 20 मिनट का है, जिसमें निजी कॉलेज की महिला प्रोफेसर ने चार छात्राअें को अच्‍छे अंक और वित्‍तीय मदद का लालच दे रही हैं।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24790 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹4000 Cashback
  • Jivi Energy E12 8 GB (White)
    ₹ 2799 MRP ₹ 4899 -43%
    ₹0 Cashback

मदुरई कामराज यूनिवर्सिटी से जुड़ा है कॉलेज: यह मामला मदुरई कामराज यूनिवर्सिटी से जुड़े देवांगा आर्ट्स कॉलेज का है। ऑडियो टेप में गणित विभाग में पढ़ाने वालीं निर्मला देवी ने चारों छात्राओं से विश्‍वविद्यालय के एक वरिष्‍ठतम अधिकारी के लिए गोपनीय तरीके से तय चीजें करने की बात कही रही हैं। इसमें अंडरग्रैजुएट छात्राएं उच्‍चाधिकारी के लिए ‘तय चीजें’ करने से इनकार कर रही हैं। इस पर असिस्‍टेंट प्रोफेसर निर्मला छात्राओं को जल्‍दबाजी में फैसला न लेने की बात कही रही हैं। 15 अप्रैल को लीक इस टेप में प्रोफेसर ने निर्णय लेने के लिए छात्राओं को तीन दिन का वक्‍त देने की बात भी कही है। महिला प्रोफेसर ने छात्राओं से कहा कि उच्‍च‍ाधिकारी के लिए कुछ करने के बाद डॉक्‍टरेट तक उनको किसी तरह की दिक्‍कत नहीं होगी। टेप में निर्मला देवी ने छात्राओं से बातचीत के ब्‍यौरे को किसी से साझा न करने का आश्‍वासन भी लिया। निर्मला देवी ने कहा कि उनकी भावना गलत नहीं थी…छात्राओं ने बात को तोड़-मरोड़ कर पेश किया। वहीं, विश्‍वविद्यालय के वाइस चांसलर ने मामले की जानकारी न होने की बात कही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App