scorecardresearch

सेना के समय से संघ के साथ संबंध रहा है- BJP में शामिल होने पर बोले AAP के CM कैंडिडेट, केजरीवाल की पार्टी के साथ विवादों पर तोड़ी चुप्पी

कैलाश विजयवर्गीय के बयान पर अजय कोठियाल ने कहा कि सेना में चार साल अग्निवीर को कई तरह के हथियार चलाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। एक सामान्य व्यक्ति सुरक्षा एजेंसी में 10,000 से 12,000 रुपये कमाएगा, लेकिन प्रशिक्षित कर्मी 30,000 रुपये प्रति माह से ज्यादा कमाएगा।

सेना के समय से संघ के साथ संबंध रहा है- BJP में शामिल होने पर बोले AAP के CM कैंडिडेट, केजरीवाल की पार्टी के साथ विवादों पर तोड़ी चुप्पी
बीजेपी में शामिल हुए अजय कोटियाल (फोटो सोर्स- एएनआई)

फरवरी 2022 में हुए उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में हार के बाद, आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार कर्नल अजय कोठियाल पिछले महीने भाजपा में शामिल हो गए। पार्टी छोड़ते समय उन्होंने कहा था कि आप में शामिल होने का उनका निर्णय एक गलत इमोशनल फैसला था। ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ को दिए एक इंटरव्यू में, सेवानिवृत्त कर्नल ने AAP छोड़ने और भाजपा में शामिल होने के अपने फैसले और अग्निपथ योजना पर बात की।

आप के साथ किन मुद्दों पर मतभेद थे इस सवाल के जवाब में कर्नल अजय कोठियाल ने कहा कि राजनीति में आने से पहले मैंने आप के बारे में ध्यान से पढ़ा और कई बैठकें कीं। मुझे उनका वर्क कल्चर पसंद आया। कर्नल ने आगे बताया, “शुरू में मुझे अच्छा लगा कि पार्टी कैसे काम करती है, लेकिन धीरे-धीरे वे इस बात पर अड़ गए कि अभियान कैसे चलेगा। जब भी मैं अपने इनपुट के आधार पर कोई सुझाव देता था, तो वो उससे इनकार कर देते थे।” उन्होंने कहा कि पार्टी के प्रदेश प्रभारी को यकीन था कि दिल्ली में इस्तेमाल की गई आप की स्ट्रैटेजी उत्तराखंड में भी सफल होगी।

सेना के समय से संघ के साथ संबंध: बीजेपी में शामिल होने के सवाल पर कर्नल अजय कोठियाल ने कहा कि जब मैं सेना में था तब से मेरा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से कुछ कनेक्शन था। केदारनाथ धाम के जीर्णोद्धार के दौरान संघ ने मुझे प्रोत्साहित किया। भाजपा की कार्य शैली भी भारतीय सेना की कार्यशैली से काफी मिलती-जुलती है। शायद इन्हीं सब बातों की वजह से बीजेपी मेरी पसंद थी।

पार्टी में सारे फैसले एक ही व्यक्ति के हाथ में: उत्तराखंड के सीएम पुष्कर धामी ने कहा था कि कर्नल का भाजपा में शामिल होना देश में आम आदमी पार्टी के अंत की शुरुआत है। इस पर बात करते हुए अजय कोठियाल ने कहा, “धामी जी की बात से मैं पूरी तरह सहमत हूं। आप ने 2022 में तीन राज्यों पंजाब, उत्तराखंड और गोवा के लिए तैयारी की। उन्होंने पंजाब को जीत लिया लेकिन यहां भेजे गए नेताओं ने उत्तराखंड में इसके संगठन को पूरी तरह से नष्ट कर दिया।” उन्होंने कहा कि पार्टी में सारे फैसले एक ही व्यक्ति के हाथ में हैं, इसका एक ही मॉडल है और वह उम्मीद करते हैं कि यह पूरे देश में काम करेगा जो कि संभव नहीं है।

आर्मी जवान हो जाएगी: अग्निपथ योजना पर बात करते हुए रिटायर्ड कर्नल ने कहा कि हम पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर में चीन, पूर्व में बांग्लादेश और म्यांमार और दक्षिण में श्रीलंका से घिरे हुए हैं। इसे देखते हुए हमें अपनी सेना का आधुनिकीकरण करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि युद्ध लड़ने के लिए फिजिकल फिटनेस बहुत जरूरी है और अगर सैनिकों की उम्र कम कर दी जाती है तो आर्मी जवान हो जाएगी।

युवाओं के लिए फायदेमंद: अग्निवीर योजना सेना में शामिल होने के इच्छुक युवाओं के लिए किस तरह फायदेमंद है? इस सवाल के जवाब में अजय कोठियाल ने कहा कि जब हम एक सैनिक या अग्निवीर को प्रशिक्षित करते हैं, तो यह केवल हथियारों को संभालने का प्रशिक्षण नहीं है। सैनिक सेना में पुल बना रहा है, वह सड़कें और ट्रैक बना रहा है। यह सारा प्रशिक्षण रोजगार के साथ-साथ है। अगर एक सैनिक ने चार साल तक अनुशासन सीखा है, तो वह एक बेहतर समाज का निर्माण करेगा।

अग्निपथ योजना को लागू करने में आने वाली चुनौतियों पर बात करते हुए रिटायर्ड कर्नल ने कहा, “पहली और सबसे बड़ी चुनौती लोगों को इस योजना के बारे में पूरी स्पष्टता के साथ जानकारी देना है। हमें समझाने की जरूरत है कि यह योजना राष्ट्रीय हित में कैसे है, इससे नियोक्ताओं को कैसे फायदा होगा और इससे चार साल बाद वापस आने वालों को क्या फायदा होगा?

उन्होंने कहा कि दूसरी महत्वपूर्ण चुनौती हमारे प्रशिक्षण केंद्रों की क्षमता को बढ़ाना है। प्रशिक्षकों का कार्यकाल तीन वर्ष का होता है और पिछले दो सालों में कोविड महामारी के कारण कोई भर्ती नहीं हुई। अब अचानक भारी भर्तियां होंगी।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट