ताज़ा खबर
 

हरियाणा: कॉलेज के अंदर ही लेक्चरर पर छात्र ने दाग दी गोलियां, मौत

सोनीपत के शहीद दलबीर सिंह स्‍टेट कॉलेज में छात्र ने लेक्‍चरर राजेश मलिक को ताबड़तोड़ तीन गोलियां मार दीं। इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी। आरोपी छात्र को दबोचने के लिए पुलिस ने विशेष टीम गठित की है।

छात्र ने कॉलेज में घुसकर लेक्‍चरर को गोली मारी। (प्रतीकात्‍मक फोटो)

हरियाणा में छात्र द्वारा शिक्षक की गोली मार कर हत्‍या करने का एक और मामला सामने आया है। यह मामला सोनीपत जिले का है। मारे गए लेक्‍चरर की पहचान राजेश मलिक के तौर पर गई है। वह शहीद दलबीर सिंह स्‍टेट कॉलेज में पढ़ाते थे। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, घटना के वक्‍त राजेश क्‍लर्क रूम में थे जब जगमाल नामक छात्र अचानक से वहां घुस गया था। उसने राजेश पर ताबड़तोड़ तीन गोलियां बरसा दीं, जिसके कारण उनकी घटनास्‍थल पर ही मौत हो गई। आरोपी छात्र फरार है। कॉलेज परिसर में गोली चलने से अफरातफरी का माहौल पैदा हो गया था। कॉलेज प्रशासन ने आनन-फानन में पुलिस को घटना की जानकारी दी थी। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। इस बीच, स्‍थानीय पुलिस ने आरोपी को दबोचने के लिए विशेष टीम गठित कर दी है। इस घटना के बाद से कॉलेज के छात्र और शिक्षक सदमे में हैं। जगमाल द्वारा इस घटना को अंजाम देने के वजहों का अभी तक पता नहीं चल सका है।

हरियाणा में छात्र द्वारा शिक्षक की हत्‍या का यह कोई पहला मामला नहीं है। राज्‍य के यमुनानगर में 20 जनवरी को 12वीं कक्षा के एक छात्र (18) ने अपने स्‍कूल की प्रिंसिपल की गोली मारकर हत्‍या कर दी थी। आरोपी छात्र को घटना से कुछ दिनों पहले ही स्‍कूल से निलंबित कर दिया गया था। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। यह घटना यमुनानगर के स्‍वामी विवेकानंद पब्लिक स्‍कूल की थी। प्रिंसिपल रितु छाबड़ा अपने कार्यालय में बैठी थीं, जब आरोपी छात्र अचानक से घुस आया और उन पर ताबड़तोड़ तीन गोलियां दाग दी थीं। उन्‍हें तत्‍काल नजदीकी अस्‍पताल में ले जाया गया था, जहां कुछ देर बाद डॉक्‍टरों ने उन्‍हें मृत घोषित कर दिया था। आरोपी छात्र ने इस घटना को अंजाम देने के लिए पिता के लाइसेंसी पिस्‍तौल का इस्‍तेमाल किया था। पुलिस ने बताया था कि उनकी प्रिंसिपल अर्थशास्‍त्र पढ़ाती थीं और उसे डांट-फटकार लगाती रहती थीं। घटना के दिन उसने घर में लोहे की आलमारी तोड़ कर .32 बोर का पिस्‍तौल निकाल सीधे स्‍कूल पहुंच गया था। स्‍कूल में ठीक आचरण नहीं होने और अक्‍सर अनुपस्थित रहने के कारण उसे स्‍कूल से निलंबित किया गया था। स्‍कूल परिसर में इस घटना के बाद भी स्‍कूल-कॉलेज प्रशासन ने इससे सीख नहीं ली जिसके कारण सोनीपत में भी छात्र हथियार के साथ कॉलेज परिसर में पहुंचने में कामयाब रहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App