ताज़ा खबर
 

आरिफ अकील: मध्‍य प्रदेश में 15 साल बाद कोई मुस्लिम विधायक बना मंत्री

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार को अपने मंत्रिमंडल में विस्तार किया। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने 28 मंत्रियों के नामों पर अंतिम मुहर लगाई, जिन्हें यहां शपथ दिलाई।

Author भोपाल | Updated: December 26, 2018 12:50 PM
मध्य प्रदेश रकार में 15 साल बाद मुस्लिम समुदाय के आरिफ अकील को प्रतिनिधित्व दिया गया है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार को अपने मंत्रिमंडल में विस्तार किया। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने 28 मंत्रियों के नामों पर अंतिम मुहर लगाई, जिन्हें यहां शपथ दिलाई। सरकार में 15 साल बाद मुस्लिम समुदाय के आरिफ अकील को प्रतिनिधित्व दिया गया है। राज्य की सत्ता में 15 साल बाद लौटी कांग्रेस ने हाल ही में कमलनाथ को प्रदेश का मुख्यमंत्री नियुक्त किया है। कमलनाथ के मंत्रिमंडल में क्षेत्रीय और जातिगत संतुलन पर पूरा ध्यान दिया गया है। मंत्रिमंडल में राज्य के तीनों बड़े नेता कमलनाथ, दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन वाले विधायकों को जगह दी गई है।

मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री कमलनाथ के 11, दिग्विजय सिंह के नौ, ज्योतिरादित्य सिंधिया के सात और अरुण यादव खेमे के एक मंत्री को शामिल किया गया है।
शपथ लेनेवाले मंत्रियों में डॉ. गोविंद सिंह, आरिफ अकील, वृजेंद्र सिंह राठौड़, सज्जन सिंह वर्मा, बाला बचन, लखन सिंह यादव, विजयलक्ष्मी साधो, हुकुम सिंह करादा, तुलसी सिलावत, गोविंद राजपूत, ओंकार मरकाम, सुखदेव पानसे, चौधरी जयवर्धन सिंह, हर्ष यादव, कमलेश्वर पटेल व लखन घनगोरिया शामिल हैं।

इनके अलावा तरुण भनोट, पी.सी. शर्मा, सचिन यादव, सुरेंद्र सिंह बघेल, जीतू पटवारी, उमंग सिंगार, प्रद्युम्न तोमर, प्रदीप जायसवाल, महेंद्र सिंह सिसोदिया, इमरती देवी, प्रियवत सिंह को भी मंत्री बनाया गया है।

खास बात यह कि कमलनाथ मंत्रिमंडल में राज्य सरकार में बीते 15 साल बाद मुस्लिम समुदाय के आरिफ अकील को प्रतिनिधित्व दिया गया है।
सभी मंत्रियों ने हिंदी भाषा में पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के छह दिन बाद 17 दिसंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।

Next Stories
1 MP: यूपी-बिहार वालों को लेकर दिए बयान पर बोले कमलनाथ- मैंने कौन-सी गलत बात कह दी?
2 CM कमलनाथ ने लिया फैसला- मध्य प्रदेश में नौकरियों पर यूपी-बिहार के लोगों से पहले स्थानीय युवाओं का हक
3 लंगोटिया यार को नहीं भूले कमलनाथ, होर्डिंग में राहुल गांधी के साथ दी जगह
ये पढ़ा क्या?
X