ताज़ा खबर
 

चीफ सेक्रेटरी से हाथपाई पर बोले सीएम- अरविंद केजरीवाल जिद्दी हो सकता है, हिंसक नहीं

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हिेंसा कायरों का काम है और केजरीवाल कायर नहीं है। मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश ने सीएम हाउस पर केजरीवाल के सामने AAP विधायकों द्वारा मारपीट करने का आरोप लगाया था।

Author नई दिल्‍ली | Updated: March 8, 2018 9:11 AM
मुख्य सचिव अंशु प्रकाश और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल।

दिल्‍ली के चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश से मारपीट मामले में मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने कहा कि केजरीवाल जिद्दी हो सकता है, हिंसक नहीं। सीएम केजरीवाल बोले, ‘अब मारपीट का जो आरोप लगाया गया है…केजरीवाल जिद्दी हो सकता है, हिंसात्‍मक नहीं। हमलोग हिंसा कभी नहीं करेंगे। मारपीट कायर लोग करते हैं और केजरीवाल कायर नहीं है। हम कभी मारपीट नहीं करेंगे। …और अपने लोगों से क्‍यों करेंगे? आपस में लड़ लेंगे, झगड़ लेंगे। हम मारपीट क्‍यों करेंगे?’ अंशु प्रकाश 19 फरवरी की देर रात एक बैठक में शामिल होने के लिए सीएम हाउस गए थे। बाद में उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री केजरीवाल के सामने आम आदमी पार्टी के विधायकों पर मारपीट करने का आरोप लगाया था। मेडिकल रिपोर्ट में भी इसकी पुष्टि हुई थी। सीएम केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन ने भी घटना होने की बात स्‍वीकार की थी। अंशु प्रकाश ने ओखला से आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्‍ला खान को मुख्‍य आरोपी बनाते हुए उत्‍तरी दिल्‍ली के सिविल लाइंस थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। दिल्‍ली पुलिस ने पहले AAP के विधायक प्रकाश जरवाल को गिरफ्तार किया था। अमानतुल्‍ला ने जामिया नगर थाने में समर्पण कर दिया था।

दिल्‍ली हाई कोर्ट ने दिल्‍ली सरकार को लगाई थी फटकार: चीफ सेक्रेटरी से मारपीट का मामला दिल्‍ली हाई कोर्ट भी पहुंच गया था। 5 मार्च को मामले पर सुनवाई करते हुए अदालत ने केजरीवाल सरकार को कड़ी फटकार लगाई थी। कोर्ट ने कहा था कि दोनों पक्ष को बैठ कर आपस में बात करनी चाहिए थी, लेकिन सरकार अपने मुख्‍य सचिव की इज्‍जत ही नहीं कर रही है। कोर्ट ने दिल्‍ली सरकार से पूछा था कि आप लोगों के साथ ही बार-बार ऐसा क्‍यों हो रहा है? आप लोग अपने अधिकारियों के साथ एक बैठक क्‍यों नहीं कर रहे हैं? आप अपने मुख्‍य सचिव की इज्‍जत क्‍यों नहीं करते? बता दें कि दिल्‍ली विधानसभा की विशेषाधिकार समिति ने अंशु प्रकाश के साथ दो अन्‍य आईएएस अधिकारियों को तलब किया था। मुख्‍य सचिव ने इसके खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी। बता दें कि चीफ सेक्रेटरी से मारपीट की घटना के बाद दिल्‍ली के नौकरशाहों और केजरीवाल सरकार के बीच ठन गई है। अधिकारी लिखित माफी की मांग पर अड़े हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 केरल: मंदिर ने लगवाया रक्‍तदान का नोटिस, लिखा- देवी को चढ़ाने के लिए होगा इस्‍तेमाल
2 केरल: ग्रेनेड का खोखा लेकर विधानसभा घुस गए कांग्रेस विधायक व पूर्व गृह मंत्री
3 इकतरफा प्यार में गिरफ्तार हुआ लड़का, लड़की पर फेंक दिया तेजाब
जस्‍ट नाउ
X