ताज़ा खबर
 

कर्नाटक में पहली बार एक मंच पर दिख सकते हैं मायावती और अखिलेश 

प्रदेश में भाजपा के खिलाफ समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने एक-दूसरे से हाथ जरूर मिलाया है लेकिन मायावती और अखिलेश यादव अभी तक एक मंच पर साथ नहीं दिखे हैं।

एक साथ नजर आएंगे मायावती और अखिलेश

प्रदेश में भाजपा के खिलाफ समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने एक-दूसरे से हाथ जरूर मिलाया है लेकिन मायावती और अखिलेश यादव अभी तक एक मंच पर साथ नहीं दिखे हैं। कर्नाटक में जद (एस) नेता एच डी कुमारस्वामी के नेतृत्व में गठित होने जा रही सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में दोनों के एक साथ नजर आने की प्रबल संभावना है।   बहुजन समाज पार्टी के सहयोग से समाजवादी पार्टी द्वारा फूलपुर और गोरखपुर संसदीय क्षेत्रों के उपचुनाव में जीत हासिल करने के बाद अखिलेश यादव ने मायावती के आवास पर जाकर उनसे मुलाकात की थी, लेकिन किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में अभी तक दोनों साथ नहीं नजर आए हैं।

यह पहला मौका होगा जब कल दोनों किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में साथ हो सकते हैं।   सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने ”भाषा” को बताया कि पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को कल कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेंगे। बसपा के एक नेता ने बताया कि कुमारस्वामी ने कल बसपा सुप्रीमो मायावती से दिल्ली में मुलाकात की थी और वह कर्नाटक में शपथ ग्रहण समारोह में जायेंगी।

HOT DEALS

बता दें कि बीजेपी के खिलाफ सपा-बसपा 25 साल बाद एकजुट हुई है। मार्च में गोरखपुर और फूलपुर संसदीय उप तुनावों में सपा-बसपा ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था लेकिन तब चुनावी सभाओं में बुआ मायावती और भतीजे अखिलेश ने कभी एक साथ मंच साझा नहीं किया। मायावती ने 2019 तक सपा के साथ गठबंधन की बात कही है। कर्नाटक चुनाव के बाद अब माना जा रहा है कि बीजेपी विरोधी क्षेत्रीय दल कांग्रेस के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ेंगे

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App