ताज़ा खबर
 

IGDTUW M.Tech Admission 2017: 15 से होंगे महिला विश्वविद्यालय में एमटेक के आवेदन

इंदिरा गांधी दिल्ली प्रौद्योगिकी महिला विश्वविद्यालय (आइजीडीटीयूडब्लू) में एमटेक, एमटेक (पार्टटाइम), एमसीए और पीएचडी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आॅनलाइन आवेदन 15 अप्रैल से शुरू होंगे।

Author नई दिल्ली | March 28, 2017 2:43 AM

सुशील राघव
इंदिरा गांधी दिल्ली प्रौद्योगिकी महिला विश्वविद्यालय (आइजीडीटीयूडब्लू) में एमटेक, एमटेक (पार्टटाइम), एमसीए और पीएचडी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आॅनलाइन आवेदन 15 अप्रैल से शुरू होंगे। आवेदन 15 जून तक किए जा सकेंगे। आवेदकों को आवेदन शुल्क के रूप में 750 रुपए का भुगतान करना होगा।
विश्वविद्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, पिछले साल की तरह ही एमटेक, एमटेक (पार्टटाइम), एमसीए और पीएचडी के लिए एनआइसी की ओर से बनाए गए हमारे पोर्टल डब्लूडब्लूडब्लू डॉट आइजीडीटीयूडब्लू डॉट एडमिशन डॉट एनआइसी डॉट इन पर आवेदन किए जा सकेंगे।
उन्होंने बताया कि प्रवेश से संबंधित सभी जानकारी जल्द ही विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड कर दी जाएगी। इसके अलावा अप्रैल के पहले हफ्ते में विज्ञापन भी जारी कर दिया जाएगा। एमटेक में प्रवेश के लिए ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग (गेट) देने वाली छात्राओं को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके अलावा क्वालीफाइंग परीक्षा की मेरिट सूची के आधार पर दाखिला दिया जाएगा।

हरित तकनीक में एमटेक
आइजीडीटीयूडब्लू इस साल से ग्रीन टेक्नोलॉजी में भी एमटेक पाठ्यक्रम शुरू करने जा रहा है। यह पाठ्यक्रम बहुविषयक होगा। पाठ्यक्रम के दौरान छात्राओं को अक्षय ऊर्जा उत्पादन, अक्षय ऊर्जा का उपयोग, कूड़े का बेहतर ढंग से निपटान, उद्योग चलाने में ग्रीन तकनीक का इस्तेमाल आदि के बारे में पढ़ाया जाएगा। आज के दौर में जबकि दुनिया में प्रदूषण बढ़ा रहा है और लोग इसके बारे में चिंतित होने लगे हैं, ऐसे में ग्रीन टेक्नोलॉजी का भविष्य अच्छा है। पाठ्यक्रम में ग्रीन केमिस्ट्री, ग्रीन बिल्डिंग, ग्रीन नैनो केमिस्ट्री, स्मार्ट ग्रिड तकनीक, अक्षय ऊर्जा उत्पादन, ग्रीन कंप्यूटिंग व ग्रीन इकोनॉमिक्स आदि विषय पढ़ाए जाएंगे।

पूर्व छात्राओं से मांगे स्टार्टअप के प्रस्ताव
विश्वविद्यालय ने अपनी पूर्व छात्राओं से स्टार्टअप के प्रस्ताव मांगे हैं। बेहतर प्रस्तावों को विश्वविद्यालय के इंक्यूबेशन सेंटर में काम कर कंपनी तैयार करने की कोशिश की जाएगी। इंक्यूबेशन सेंटर में बिजनेस शुरू करने और उसे चलाने की सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। इसके अलावा प्रस्ताव के आधार पर कुछ छात्राओं को बिजनेस शुरू करने के लिए आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराई जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App